ताज़ा खबर
 

चौपाल: इंदौर की मिसाल

आज इंदौर के लोग कारों में कचरा पात्र या डस्टबिन लेकर घूमते हैं, ताकि कचरा सड़कों पर न फेंकना पड़े या कहें कि सिंगल यूज प्लास्टिक की गंदी आदत भी धीरे-धीरे छूटती जा रही है। इस प्रकार इंदौर के लोग स्वच्छता का उत्कृष्ट संदेश एवं संस्कार देश के सामने नजीर के रूप में पेश कर रहे हैं, जिसे अन्य शहरों को आदर्श के रूप में मानना चाहिए।

Indore, Cleanest Cityस्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार चौथे साल टॉप पर रहा इंदौर।

हाल में स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान पूरे देश में इंदौर शहर एक बार फिर प्रथम स्थान पर रहा। यह वाकई इंदौर वासियों के लिए खुशी की सौगात के साथ उनके दृढ़ निश्चय की भी जीत है। इंदौर शहर की जनता शहर को स्वच्छ रखने के लिए प्रशासन के साथ हर वक्त इमानदारी से तैयार रहती है।

आज इंदौर के लोग कारों में कचरा पात्र या डस्टबिन लेकर घूमते हैं, ताकि कचरा सड़कों पर न फेंकना पड़े या कहें कि सिंगल यूज प्लास्टिक की गंदी आदत भी धीरे-धीरे छूटती जा रही है। इस प्रकार इंदौर के लोग स्वच्छता का उत्कृष्ट संदेश एवं संस्कार देश के सामने नजीर के रूप में पेश कर रहे हैं, जिसे अन्य शहरों को आदर्श के रूप में मानना चाहिए।

इंदौर की चमचमाती सड़कों पर जरा भी कचरा न होना वहां के निवासियों की दृढ़ इच्छाशक्ति को मजबूत करता है। देश का हर नागरिक स्वच्छता का संस्कार अपने मन में विकसित कर ले, तो देश की सच्ची सेवा ऐसे ही हो जाएगी।
’महेश आचार्य, नागौर ( राजस्थान)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चौपाल: पाक को सबक
2 चौपाल: संकट की शिक्षा
3 चौपाल: परीक्षा बनाम रोजगार