ताज़ा खबर
 

चौपाल: विपदा के वक्त

बाढ़ पीड़ितों का कहना है कि जनसंख्या एवं विपदा के अनुरूप मात्रा में राहत सामग्री तथा आर्थिक मदद उन्हें नहीं मिल पा रही है। यहां तक कि पिछले वर्ष के कुछ बाढ़ पीड़ितों को भी अभी तक मुआवजा नहीं मिल पाया है।

Bihar, Flood, Assam Flood,बिहार में बाढ़ से हालात काफी खराब हैं। (फोटो-PTI)

बिहार इन दिनों दोहरी मार झेल रहा है। एक तरफ कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं और इस सबके बीच इसी साल राज्य में चुनाव भी होने हैं। बिहार में बाढ़ का कहर जारी है। राज्य के अनेक बड़े जिले बाढ़ की चपेट में हैं, लाखों की संख्या में लोग अपना घर छोड़ कर पलायन करने पर मजबूर हैं। कोसी, बागमती और गंडक नदियां बिहार के लिए इस वक्त काल का स्वरूप बन गई हैं।

बाढ़ पीड़ितों का कहना है कि जनसंख्या एवं विपदा के अनुरूप मात्रा में राहत सामग्री तथा आर्थिक मदद उन्हें नहीं मिल पा रही है। यहां तक कि पिछले वर्ष के कुछ बाढ़ पीड़ितों को भी अभी तक मुआवजा नहीं मिल पाया है। ऐसे में यह प्रश्न स्वाभाविक हो जाता है कि बिहार जैसे राज्य, जो बाढ़ से अक्सर प्रभावित रहते हैं, वहां शासन इस चुनौती से निपटने के लिए प्रबंधन और व्यवस्था का निर्धारण पहले ही क्यों नहीं कर लेते, क्योंकि विपदा के समय ही सरकार की नीतियों, सेवा कार्य एवं दक्षता की परीक्षा होती है।

’मानस दीक्षित, कोयला नगर, कानपुर

किसी भी मुद्दे या लेख पर अपनी राय हमें भेजें। हमारा पता है : ए-8, सेक्टर-7, नोएडा 201301, जिला : गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश
आप चाहें तो अपनी बात ईमेल के जरिए भी हम तक पहुंचा सकते हैं। आइडी है : chaupal.jansatta@expressindia.com

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चौपाल: नशे का जाल
2 चौपाल: लाचार बचपन
3 चौपाल: चीन के मंसूबे
IPL 2020: LIVE
X