ताज़ा खबर
 

चौपालः पैसे का खेल

हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला स्थित एचपीसीए क्रिकेट स्टेडियम में आगामी उन्नीस मार्च को भारत-पाकिस्तान के बीच प्रस्तावित क्रिकेट मैच पर राजनीति लगातार जोर पकड़ रही है।

Author March 5, 2016 04:11 am
भारत-पाक क्रिकेट की फाइलफोटो

हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला स्थित एचपीसीए क्रिकेट स्टेडियम में आगामी उन्नीस मार्च को भारत-पाकिस्तान के बीच प्रस्तावित क्रिकेट मैच पर राजनीति लगातार जोर पकड़ रही है। यों भारत-पाक के बीच क्रिकेट मैच पहले भी विवादों के घेरे में रहे हैं। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के साथ हमारे रिश्तों को लेकर एक तरफ हमारे नेता बराबर यह कहते रहे हैं कि आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते और दूसरी तरफ इसी मुल्क के साथ क्रिकेट मैच खेलने में कोई आपत्ति नजर नहीं आती।

दो देशों के बीच मैत्री-संबंध बढ़ाने के लिए खेल-स्पर्धाएं, गीत-संगीत के आयोजन या सांस्कृतिक आदान-प्रदान से जुड़े कार्यक्रम तभी अच्छे लगते हैं, जब दोनों देशों के मन दिल की गहराइयों से मिलते हों या फिर दोनों देश एक दूसरे की संप्रभुता का आदर करते हों। एक बार दोनों देश आपसी रंजिश भूल कर एक दूसरे के सच्चे मन से मित्र हो जाएं, तब फिर मैच, गीत-कव्वाली या फिर साहित्य-चर्चाओं आदि के कार्यक्रम भी अच्छे लगेंगे।

माना जाता है कि क्रिकेट के खेल से दोनों देशों के बीच दोस्ती के रिश्ते मजबूत होंगे। बात यह नहीं, दूसरी है। दरअसल, इस खेल में खूब पैसा है, इसीलिए इस मुद्दे को बार-बार हवा दिया जा रहा है। अगर क्रिकेट-खेल से दोनों देशों को एक दूसरे के गले लगना होता तो कब के लग गए होते। कौन नहीं जानता कि इस पैसे के खेल में लोगों और दर्शकों का हित कम, दोनों देशों के क्रिकेट बोर्डों का भला अधिक होता है और उनकी झोलियां अकूत धन से भर जाती हैं। यह बात न कोई बताता है और न ही कोई समझना चाहता है।
’शिबन कृष्ण रैणा, अलवर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App