ताज़ा खबर
 

चौपाल: आमदनी और खर्च

मांग के कमी के चलते हमारा आयात गिरता जा रहा है। यह हमारी अर्थव्यवस्था के ध्वस्त होने का संकेत है, जबकि इस समय सरकार को चाहिए था कि गरीब तबके की आर्थिक मदद करती

pm kisan samman nidhi yojanaपीएम किसान सम्मान निधि योजना में बैंक खाते में बदलाव के चलते अटकीं हजारों किसानों की किस्तें

सुना है कि देश का चालू खाता को रोग लग लगा है। यानी आमदनी अठन्नी, खर्चा रुपया नहीं, बल्कि खर्चा अठन्नी आमदनी रुपया हो गया है। हालांकि इसका संदर्भ थोड़ा जटिल है। यह सभी जानते हैं कि मौजूदा दौर में आम लोगों की आमदनी की क्या हालत है।

दरअसल, यह दर्शाता है कि मांग के कमी के चलते हमारा आयात गिरता जा रहा है। यह हमारी अर्थव्यवस्था के ध्वस्त होने का संकेत है, जबकि इस समय सरकार को चाहिए था कि तमाम गरीब तबके को, जो महामारी के चलते बेरोजगार हो गया हो, उनके खाते में यूनिवर्सल बेसिक इनकम के तहत एकमुश्त राशि हस्तांतरित करती। इससे बाजार में मांग बढ़ती।

इन्हीं परिस्थितियों के मध्य यह भी समाचार आ रहा है कि देश का विदेशी मुद्रा भंडार भी लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बढ़ोतरी का क्या लाभ, जब हम अपने नागरिकों को उनके बुनियादी जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहे हैं।
’जंग बहादुर सिंह, गोलपहाड़ी, जमशेदपुर

किसी भी मुद्दे या लेख पर अपनी राय हमें भेजें। हमारा पता है : ए-8, सेक्टर-7, नोएडा 201301, जिला : गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश
आप चाहें तो अपनी बात ईमेल के जरिए भी हम तक पहुंचा सकते हैं। आइडी है : chaupal.jansatta@expressindia.com

Next Stories
1 चौपाल: लोकतंत्र में रिश्ते
2 चौपाल: शिक्षा का दायरा
3 चौपाल: तेल का खेल
ये पढ़ा क्या?
X