ताज़ा खबर
 

चौपालः दोस्ती का दायरा

ट्रंप के दौरे को लेकर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और धारा 370 को लेकर जो अंदेशा जताया जा रहा था कि ट्रंप इस बारे में जरूर कुछ ऐसा बोल सकते हैं जो सरकार को परेशानी में डाल सकता है।

Author Published on: February 27, 2020 1:18 AM
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का भारत दौरा कई मायनों में खास कहा जा सकता है। अमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में जुटी भीड़ का प्रभाव ट्रंप के चेहरे पर साफ तौर पर देखा गया। भारत में अपना स्वागत और लोगों का उत्साह देख कर ट्रंप जिस तरह से अभिभूत हुए, उससे दोनों देशों के बीच रिश्तों का एक नया अध्याय शुरू हुआ है। भले ही ट्रंप के इस दौरे में कोई आधिकारिक व्यापारिक समझौता नहीं हो पाया, लेकिन जाते जाते वे भविष्य में व्यापार और रक्षा समझौते पर प्रतिबद्धता जरूर प्रदर्शित कर गए।

साथ ही ट्रंप के दौरे को लेकर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और धारा 370 को लेकर जो अंदेशा जताया जा रहा था कि ट्रंप इस बारे में जरूर कुछ ऐसा बोल सकते हैं जो सरकार को परेशानी में डाल सकता है। लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस बारे में साफ कह दिया कि ये दोनों भारत के आंतरिक मामले हैं और प्रत्येक देश को अपनी नागरिक के संबंध में नियम बनाने की स्वतंत्रता हैं। ट्रंप का यह वक्तव्य देश के आंतरिक मामलों में तटस्थता की नीति को उजागर करता हैं।

ट्रंप ने तमाम अटकलों और आशंकाओं को दरकिनार करके जिस प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना सबसे अच्छा दोस्त और भारतीय लोगों के व्यवहार को अनुकरणीय बताया है, उससे साफ है कि आज भारत वैश्विक पटल पर सब देशों के लिए आदर्श बन चुका हैं। साथ ही उन्होंने स्पष्ट और कड़े शब्दों में इस्लामी आतंकवाद की निंदा कर पाकिस्तान की ओर भी इशारा कर दिया।
’अर्जुन प्रतापसिंह इंदा, बालेसर, जोधपुर

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चौपालः धुएं में फिक्र
2 चौपालः भरोसे की परीक्षा
3 चौपालः नदियों की सफाई