ताज़ा खबर
 

चौपाल: नस्लवाद का नासूर

मैंने अक्सर देखा है विश्वविद्यालय में भी जब कोई भारत के थोड़ी दूसरे इलाकों से पढ़ने आते हैं तो सहपाठी तक उनका मजाक उड़ाते हैं, जिसके चलते लोगों के बीच एक दूरी बनती जाती है।

CRIME, CRIME NEWSअश्वेत नागरिक की मौत के बाद अमेरिका के लगभग सभी शहरों में प्रदर्शन हुए। फोटो सोर्स – सोशल मीडिया

अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की हाल ही में की गई हत्या के बाद भारी पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुआ। लेकिन क्या विरोध जताने वाले लोग जॉर्ज के साथ हुई बर्बरता पर विरोध जता रहे थे या इस भेदभाव के खिलाफ? ऐसे लोगों ने भी सोशल मीडिया पर विरोध जताया जो खुद भी इस तरह के कृत्य का एक हिस्सा हैं। दरअसल, हमारी और आपकी सामान्य और रोज की जिंदगी में कितने ही जॉर्ज मिल जाएंगे जो खुद को असहज महसूस करते हैं। शादियों का मौसम आते ही लड़के वाली गोरी लड़की ही ढूंढ़ने जाते हैं, जिसे सुंदर माना जाता है। क्यों हर लड़का सिर्फ ‘सुंदर’ और अपने से भी गोरे रंग की लड़की ही चाहता है?

सुंदरता की परिभाषा क्या है? घर में अगर तीन बच्चों में से कोई एक भिन्न रंग का है और गोरा नहीं है तो क्यों लोग उससे कन्नी काट लेते है? अघोषित रूप से खूब भेदभाव किया जाता है उसके साथ। कई बार तो कहा भी जाता है कि पता नहीं कहां से आ गया या आ गई… हमारे तो पूरे घर मे इस तरह का कोई नहीं है… यहां तक कि पूरे खानदान में नहीं है।

मैंने अक्सर देखा है विश्वविद्यालय में भी जब कोई भारत के थोड़ी दूसरे इलाकों से पढ़ने आते हैं तो सहपाठी तक उनका मजाक उड़ाते हैं, जिसके चलते लोगों के बीच एक दूरी बनती जाती है। और हम इसको बढ़ावा दे रहे हैं। एक पति पत्नी एक दूसरे को सिर्फ मजाक में भी रंग या सौंदर्य पर नकारात्मक टिप्पणी करते है तो यह भी बहुत भयावह बात है। इससे व्यक्ति की मनोस्थिति उसको तनाव की तरफ ले जाती है।

दूसरी ओर हमारे सामने से अक्सर ऐसे विज्ञापन गुजरते हैं- ‘पाएं दस दिनों में निखार’, ‘चंदन-सी निखरी त्वचा’, ‘इंस्टेंट ग्लो’, ‘एक हफ्ते में करें चहरे को गोरा’ आदि..! हजारों उपाय बता दिए जाते हैं कि इतना सब कुछ जब गोरा होने के लिए है तो क्यों न हम भी गोरा हो जाएं। ऐसे खयाल दिमाग में आते हैं और बस लग जाते हैं हम अपनी त्वचा को घिसने, रगड़ने। यह सब हमारे दिमाग मे अपनी जड़ें जमा चुका है, जिनको हम खुद भी नहीं निकलना चाहते हैं।
’शालू, शाहदरा नई दिल्ली

किसी भी मुद्दे या लेख पर अपनी राय हमें भेजें। हमारा पता है : ए-8, सेक्टर-7, नोएडा 201301, जिला : गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश
आप चाहें तो अपनी बात ईमेल के जरिए भी हम तक पहुंचा सकते हैं। आइडी है : chaupal.jansatta@expressindia.com

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चौपाल: आसमानी आफत
2 चौपाल: बीमारी का इलाज
3 चौपाल: हिरासत में मौत