ताज़ा खबर
 

चौपाल: जांच की जरूरत

सरकार द्वारा पीपीई किट के जरिए किए जाने वाले जांच की रफ्तार काफी धीमी है। अगर जांच की गति में इजाफा नहीं लाया गया तो वह दिन दूर नहीं कि पूरा का पूरा समूह एक ही बार कोरोना के चपेट में आ जाएगा।

Lockdown in india 850प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च की रात 12 बजे (25 मार्च) से लॉकडाउन का ऐलान किया था।

देश में तेजी से फैल रही महामारी ने सभी को भीतर से हिला कर दिया है, चाहे वह कोई व्यक्ति हो या देश की अर्थव्यवस्था। देशव्यापी पूर्णबंदी के बावजूद जिस तेजी से संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, उससे तो लगता है कि पूर्णबंदी जैसा कदम ज्यादा कारगर साबित नहीं हुआ। संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या दो लाख के ऊपर निकल चुकी है। कोई नहीं जानता कि फिलहाल पूरे देश में कहां और कितने ही लोग इससे संक्रमित हैं, क्योंकि जांच का दायरा अभी बहुत व्यापक नहीं है।

सरकार द्वारा पीपीई किट के जरिए किए जाने वाले जांच की रफ्तार काफी धीमी है। अगर जांच की गति में इजाफा नहीं लाया गया तो वह दिन दूर नहीं कि पूरा का पूरा समूह एक ही बार कोरोना के चपेट में आ जाएगा।
’निशा कश्यप, औरंगाबाद (बिहार)

किसी भी मुद्दे या लेख पर अपनी राय हमें भेजें। हमारा पता है : ए-8, सेक्टर-7, नोएडा 201301, जिला : गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश
आप चाहें तो अपनी बात ईमेल के जरिए भी हम तक पहुंचा सकते हैं। आइडी है : chaupal.jansatta@expressindia.com

Next Stories
1 चौपाल: अंधविश्वास की जद में
2 चौपाल: प्रकृति की चेतावनी
3 चौपाल: जिम्मेदारी का भाव
यह पढ़ा क्या?
X