ताज़ा खबर
 

चौपाल

चौपाल: शहरीकरण और पर्यावरण व पर सड़कें भी तो सुधारें

देश में प्रति व्यक्ति प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग अन्य देशों की तुलना में आज बहुत कम है।

चौपाल: असली मुद्दे गायब, स्वागतयोग्य कदम व इनका भी रखना है ध्यान

साल 2021 से देश के अट्ठाईस सैनिक स्कूलों में अब लड़कियां भी दाखिला ले सकेंगी। उन्हें बीस फीसद तक आरक्षण देने का प्रावधान किया...

चौपाल: पराली के पीछे व ध्रुवीकरण से दूर

यह न केवल भारत के ‘वसुधैव कुटुंबकम’ आदर्श के विपरीत है बल्कि देश की समरसता को भी खतरा है।

चौपाल: भूख से जंग व समय की मांग

आज तक देश में भूख के कारण हो रही मौतों के पीछे किसी की कोई जवाबदेही तय नहीं हो सकी है।

चौपाल: दिल्ली की हवा, अश्लीलता का प्रसार व पराली से खाद

सेंसर बोर्ड से फिल्मों पर तो नियंत्रण हो जाता है लेकिन डिजिटल प्लेटफॉर्म के लिए कोई सेंसर या नियम-कानून लागू नहीं होते हैं।

चौपाल: दुरुस्त आयद व पटाखों से परहेज

अमेरिका जैसे देश इस मामले में अत्यंत जागरूक हैं और वहां सोशल नेटवर्किंग साइट पर नियंत्रण को लेकर पर्याप्त कदम समय-समय पर उठाए जाते...

चौपाल: बेकाबू जुबान, गांगुली से उम्मीदें व कड़ी कार्रवाई हो

राजनीति में पक्ष-विपक्ष, विरोध-समर्थन सब होते हैं। मर्यादा में रह कर ही भाषा का इस्तेमाल किया जाता है।

चौपाल: पराली का धुआं, सरकारी लापरवाही व जानलेवा गड्ढे

हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के खेतों में पराली जलाई जा रही है और उसका धुआं दिल्ली की ओर आ रहा है।

चौपाल: आतंक की सत्ता व मिलावट का जहर

त्योहारों के मौसम में खाने-पीने की नकली और मिलावटी चीजें बेचने की होड़ लग जाती है।

चौपाल: जात न पूछो व ड्रैगन के साथ

साक्षात्कार तक पहुंचना ही अपने आप में यह बताता है कि अमुक प्रतियोगी अन्य लाखों प्रतियोगियों से अलग है, तभी वह अंतिम चरण तक...

चौपाल: वृद्धि की उम्मीद व बैंकों की भूमिका

भारत की अर्थव्यवस्था आज जिस स्थिति में है उसमें बैंकों की बड़ी भूमिका है।

चौपाल: दूरियों के बावजूद व आपदा और सजगता

इस तरह देखें तो पाकिस्तान का शुक्रिया करना बनता है। पाकिस्तान को लेकर भारतीय जनता पार्टी के मिजाज थोड़े अलग हैं।

चौपाल: कैसे मिले रोजगार

शिक्षित लोग अपनी योग्यता और डिग्री के अनुरूप रोजगार के तलाश में होते हैं, लेकिन दुर्भाग्य से शिक्षित व्यक्ति की डिग्री का ज्ञान और...

चौपाल: चीन का स्वार्थ

भारत चीन के बीच व्यापार आज लगभग सौ अरब डालर सालाना तक पहुंच चुका है। लगभग एक हजार चीनी कंपनियों ने अरबों डालर का...

चौपालः सूचनाएं और उम्मीदें

स्विट्जरलैंड उन्हीं देशों को सूचनाएं उपलब्ध कराता है, जहां गोपनीयता के कानून परिपक्व हैं। भारत के लिए राहत की बात यह है कि भारतीयों...

चौपालः लूट की होड़

ट्रेनों के फ्लेक्सी या डायनेमिक किराए में चाल यह है कि जो रेलयात्री अपनी यात्रा तिथि के मुताबिक किसी मजबूरी में जितना नजदीक यात्रा...

चौपालः गहराता संकट, अब कार्रवाई हो

इस्लामिक स्टेट से यही सगंठन अमेरिका के साथ मिल कर लड़ता रहा है। अमेरिका के हटते ही तुर्की की सेना इन पर हमला कर...

चौपालः घुसपैठ पर लगाम और समता का तकाजा

एक अनुमान के अनुसार इस समय देश में अवैध घुसपैठियों की संख्या दो करोड़ से ज्यादा बताई जाती है। प्रतिवर्ष इस संख्या में इजाफा...