चौपाल

चौपाल: पुलिस का असली चेहरा

पूर्ण बंदी का पालन सख्ती से करवाना चाहिए, उल्लंघन करने वालों को उचित वैधानिक चेतावनी देते हुए एक दो डंडे मारना, उठक बैठक लगवाना,...

चौपाल: गरीब का डर

इसमें सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना उन लोगों को करना पड़ रहा है जो रोज कमाने-खाने वाले हैं। जिनका न अपना कोई ठिकाना है।...

चौपाल: संकट और ज्यादती

ऐसे समय में पुलिस को संयम और सूझबूझ के साथ स्थितियों पर नियंत्रण करना चाहिए। यह बंदी किसी दंगे या कानून-व्यवस्था के खतरे की...

चौपाल: राहत का पिटारा

कोई भी इस बात से इनकार नहीं कर सकता कि यह समय देश को एका के भाव से भरने और उसके मनोबल को ऊंचा...

चौपालः सोशल मीडिया और सवाल

हाल में इटली के प्रधानमंत्री की रोती हुई तस्वीर वायरल हो गई और बताया कि प्रधानमंत्री कोरोना वायरस से अपने देश में हुई मौतों...

चौपालः मदद और मुश्किल

वित्तमंत्री द्वारा दिया गया यह पैकेज बहुआयामी है और किसान, मजदूर, महिला, असंगठित क्षेत्र के कामगारों, दिव्यांगों और इस महामारी में सर्वाधिक प्रयासरत हमारे...

चौपालः मानवीय तकाजा

बढ़ते संक्रमण और विदेशों में इसके दुष्प्रभाव को देखते हुए सेनेटाइजर और मास्क निर्माताओं को चाहिए कि कम से कम इस वैश्विक महामारी के...

चौपालः सिद्धांतों की बलि

भाजपा ने कांग्रेस से मिलावट कर निश्चित ही उन लाखों कार्यकर्ताओं और उनके स्वाभिमान को चोट पहुंचाई, जो विचारधारा और सिद्धांतों की लड़ाई लड़ते-लड़ते...

चौपाल: देर है, अंधेर नहीं

भारत में पिछले दो-तीन दशकों में अन्य अपराधों की तुलना में बलात्कार की संख्या में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है और इनसे जुड़े दोषियों...

चौपाल: सतर्कता की जरूरत

भारत में कोरोना के संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अगर 135 करोड़ आबादी वाले देश में संक्रमित मरीजों की संख्या...

चौपाल: गरीब और रोटी

भविष्य में आने वाली इन चुनौतियों से निपटने के लिए भारत सरकार भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत नागरिकों को प्रदान किए गए...

चौपाल: महामारी से जंग

ज्ञात रहे कोरोना वायरस से निपटने और संक्रमण फैलने से रोकने के लिए राजस्थान सरकार सहित देश की अनेक राज्य सरकारों ने संपूर्ण बंदी...

चौपाल: संयोग या प्रयोग!

अगर चीन ने इस बारे में पहले ही बता दिया होता तो इसे दुनिया में फैलने से रोका जा सकता था, लेकिन चीन ने...

चौपाल: आखिर कब तक?

कब तक सुकमा नक्सलियों का अखाड़ा बनता रहेगा? कब तक हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेंगे? ये कुछ सवाल हैं जो वर्षों से...

चौपाल: कोरोना की मार

साठ फीसद से अधिक कंपनियों का यह भी मानना है कि कोरोना के कारण उनकी आपूर्ति और उत्पादन पर बुरा असर पड़ा है। कोरोना...

चौपाल: कैसे रुके हैवानियत

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार सिर्फ 2016 में पॉक्सो ऐक्ट के तहत बच्चियों से बलात्कार के चौंसठ हजार से ज्यादा मामले...

चौपाल : न्याय की राह

इस जघन्य मुकदमे की परिणति सात वर्ष तीन माह बाद होने से स्थापित मान्यता पुन: दुहराया गया कि न्याय-मंदिर में देर भले हो, लेकिन...

चौपाल : हक की बात

बारह मार्च 2010 को भारतीय वायु सेना की महिला अधिकारियों ने पूर्णकालिक सेवा और स्थायी कमिशन का केस दिल्ली हाई कोर्ट में जीता था।...

ये पढ़ा क्या?
X