ताज़ा खबर
 

चौपाल

चौपालः हिंसा की जड़ें

महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव से शुरू हुई जातीय हिंसा हालांकि अब थम गई है लेकिन उसका यों एकाएक भड़क कर बड़े दायरे में फैल...

चौपालः हवा में जहर

लैंसेट जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रदूषण के मामले में भारत ने चीन को भी पीछे छोड़ दिया है।

चौपाल- न्याय में देरी

भारत के सामने विकास के साथ रोजगार सृजन की दोहरी चुनौती कायम है, जिससे निपटने के लिए लगातार प्रयास करने की जरूरत है।

चौपाल- मदरसों का मकसद

उत्तर प्रदेश सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी के मुताबिक मदरसों की तालीम से बच्चे आतंकवादी बन रहे हैं।

चौपालः तब और अब

गुजरात के विधानसभा चुनाव में भाजपा अपने तय लक्ष्य 150 से बहुत दूर 99 पर क्या अटकी कि उसकी उलटबांसी शुरू हो गई है।

राजपाटः सेमीफाइनल का खौफ

हाथी के दांत खाने के और होते हैं और दिखाने के और। भाजपा भी ऐसे दोहरे रवैये से मुक्त नहीं है।

चौपालः पारदर्शिता का तकाजा

केंद्र सरकार ने चुनावी बांड से जुड़े नियम घोषित कर दिए हैं और उसका दावा है कि इनके जरिये राजनीतिक चंदे में पारदर्शिता आएगी।...

चौपालः रोजगार का सवाल

भारत विश्व का सर्वाधिक युवा आबादी वाला देश है लेकिन यह कथन गौरवान्वित करने के साथ ही तस्वीर के स्याह पहलू की ओर भी...

चौपालः युवाओं को मौका

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई और भगत सिंह जैसी आधुनिक इतिहास की दो महान विभूतियों ने मातृभूमि के मान की रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च...

चौपालः तनाव के पीछे

महाराष्ट्र के कई इलाकों में भीमा कोरेगांव युद्ध के 200 साल पूरे होने पर भड़की हिंसा को जातीय विद्वेष का नाम दिया जा रहा...

किसानों के साथ

भारतीय परिदृश्य में कृषि और किसानों का कल्याण सुनिश्चित करना है तो इन्हीं 86 प्रतिशत किसानों को ध्यान में रख कर रणनीति और कार्ययोजना...

राजनीति से दूर

हिंसा की जड़ कहां है और इस हिंसा का जिम्मेदार कौन है, यह पता लगाने के लिए कानून को स्वतंत्र और निष्पक्ष ढंग से...

चौपालः पाक पर नकेल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने करीब 16 अरब 26 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता रोक कर पाकिस्तान को साफ संदेश दिया है कि आतंकवाद...

चौपालः कथनी बनाम करनी

यह विडंबना ही है कि ईमानदारी और शुचिता की दुहाई देने वाली आम आदमी पार्टी के राज्यसभा के दो उम्मीदवारों का चयन नकद नारायण...

चौपालः द्वेष के बीज

वैसे तो पिछला साल कई खट्टे-मीठे अनुभवों को अपने भीतर समेटे रहा पर जो छाप उसके दौरान मीडिया के राजनीतिकरण, फर्जी खबरों और ट्रॉलिंग...

चौपालः आभासी मुद्रा

पिछले कुछ समय से आभासी मुद्रा के रूप में प्रचलित ‘बिटकॉइन’ काले धन का एक नया और सुरक्षित अड्डा बनता जा रहा है।

चौपालः नए साल में

हर नया वर्ष हमारे लिए उम्मीदों, आशाओं, उमंगों का पिटारा लेकर आता है और हम पुराने वर्ष का आकलन करते हैं कि उसमें क्या...

किसान का दुख

किसानों की खराब हालात के लिए भ्रष्टाचार भी जिम्मेवार है। इसीलिए जरूरतमंद किसानों को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है।