ताज़ा खबर
 

Zomato पर भी मंदी की मार, 540 कर्मचारियों को निकाला, पहले भी निकाल चुका है 300 स्टाफ

इन छंटनी से जोमैटो पर भी मंदी की मार का असर दिखने लगा है। हालांकि कंपनी ने वेबसाइट से बातचीत में इसके पीछे की वजह टेक्नॉलजी का बेहतर होना बताया है।

Author नई दिल्ली | Updated: September 7, 2019 7:59 PM
अगस्त में हुई छंटनी के खिलाफ प्रदर्शन करते कर्मचारी। फोटो: इंडियन एक्सप्रेस

ऑनलाइन फूड डिलीवरी करने वाली कंपनी जोमैटो ने अपने 540 कर्मचारियों को निकाल दिया है। कंपनी ने कस्टमर सपोर्ट स्टाफ में कमी करने के उद्देश्य से ही कर्मचारियों की छंटनी की है। पिछले महीने ही कंपनी ने 60 कर्मचारियों को बाहर कर दिया था। अंग्रेजी वेबसाइट ‘द मिंट’ में छपी एक खबर के मुताबिक कंपनी ने अपने गुरुग्राम स्थित हेड ऑफिस में कार्यरत कस्टमर, मर्चेंट और डिलीवरी पार्टनर सपोर्ट टीमों से ये छंटनी की है।

इन छंटनी से जोमैटो पर भी मंदी की मार का असर दिखने लगा है। हालांकि कंपनी ने वेबसाइट से बातचीत में इसके पीछे की वजह टेक्नॉलजी का बेहतर होना बताया है। जिसके चलते कस्टमर सपोर्ट (बैकएंड) की जरुरत पहले से कम हो गई है। कंपनी ने कहा ‘हमने 541 कर्मचारियों (जोमैट की कुल श्रम क्षमता का 10 प्रतिशत) को निकाला है। ये सभी कर्मचारी गुरुग्राम के हेड ऑफिस में तैनात थे। टेक्नॉलजी इंटरफेस में सुधार के चलते अब कस्टमर से जुड़ी पूछताछ में कमी आई है। ऑर्डर्स को लेकर सपोर्ट की जरुरत भी घट गई है। ऐसे में काम और वर्कफोर्स में अंतर आया है। कस्टमर सपोर्ट डिपार्टमेंट में वर्कफोर्स काम से ज्यादा है।’

यह पहला मौका नहीं है जब जोमेटो ने अपनी कर्मचारियों की छुट्टी की है। 2015 में भी जोमैटो ने 300 लोगों को नौकरी से निकाल दिया था। उस वक्त ये संख्या जोमेटो के कुल कर्मचारियों का 10 फीसदी आंकड़ा था। मालूम हो कि देश की अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुजर रही है। अर्थव्यवस्था के ज्यादातर क्षेत्र संकट का सामना कर रहे हैं।

आर्थिक सुस्ती के चलते जीडीपी वृद्धि दर पांच फीसद रह गई है। विनिर्माण क्षेत्र की दर आधा फीसद रह गई है। कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर दो फीसद रह गई है। देश के सार्वजनिक बैंक घाटे में हैं। उत्पादित वस्तुओं की मांग में कमी के कारण कंपनियों का कारोबार ठप हो गया है और बड़े पैमाने पर कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अनिल अंबानी की अब RELIANCE NAVAL मुश्किल में, भीषण नकदी संकट से घिरी
2 BSNL का 80 हजार कर्मचारियों को रिटायरमेंट का ऑफर! नहीं दे पाया है अगस्त का वेतन