ताज़ा खबर
 

‘हवाई यात्रा के लिए नहीं होगी कई दस्तावेज ले जाने की जरूरत’

एसआईटीए नई प्रौद्योगिकी ‘ब्लाकचैन’ प्रौद्योगिकी की संभावना पर गौर कर रही है ताकि यात्रियों को ‘सुरक्षित एकल टोकन’ उपलब्ध कराया जा सके।

Author बार्सिलोना | June 12, 2016 8:15 PM
यह प्रौद्योगिकी विभिन्न देशों की सीमाओं से यात्रा के लिए यात्रियों के सुरक्षित बायोमेट्रिक सत्यापन की अनुमति उपलब्ध कराता है।

हवाई यात्री जल्दी ही विभिन्न देशों के हवाईअड्डों तथा सीमाओं से केवल ‘सुरक्षित सिंगल टोकन’ के जरिए यात्रा कर सकते हैं और उन्हें अपने साथ कई यात्रा दस्तावेज रखने की जरूरत नहीं होगी। एयरलाइन समाधान तथा प्रौद्योगिकी प्रदाता एसआईटीए नई प्रौद्योगिकी ‘ब्लाकचैन’ प्रौद्योगिकी की संभावना पर गौर कर रही है ताकि यात्रियों को ‘सुरक्षित एकल टोकन’ उपलब्ध कराया जा सके। इस प्रौद्योगिकी के बारे में स्पेन के इस शहर में ‘एयर ट्रांसपोर्ट आईटी समिट’ में जानकारी दी गई।

यह प्रौद्योगिकी विभिन्न देशों की सीमाओं से यात्रा के लिए यात्रियों के सुरक्षित बायोमेट्रिक सत्यापन की अनुमति उपलब्ध कराता है। इससे यात्रियों को विभिन्न यात्रा दस्तावेज ढोने की जरूरत नहीं होगी। साथ ही उन्हें व्यक्तिगत जानकारी साझा करने की जरूरत नहीं होगी। एसआईटीए की प्रौद्योगिकी अनुसंधान टीम एसआईटीए लैब इस बात का शोध कर रही है कि कैसे मोबाइल पर सुरक्षित एकल टोकन के रूप में वर्चुअल या डिजिटल पासपोर्ट यात्रियों की यात्रा के दौरान दस्तावेज की जांच से जुड़ी जटिलता, लागत तथा जवाबदेही को समाप्त कर सकता है। एसआईटीए के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी जिम पीटर्स ने कहा, ‘हमारा मकसद सुचारू सुरक्षित यात्रा है….।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App