यस बैंक में जमा आपकी पूंजी का क्या होगा? ग्राहक हैं तो घबराने की जरूरत नहीं, इन बातों का रखें ध्यान

Yes Bank latest news: कोई भी ग्राहक अपने सेविंग्स, करंट और अन्य अकाउंट से 50,000 रुपये से अधिक नहीं निकाल सकता। हालांकि मेडिकल इमरजेंसी, शादी और एजुकेशन फीस जैसी जरूरतों ते लिए छूट है और ग्राहक 5 लाख रुपये तक निकाल सकते हैं।

Yes Bank
फाइल फोटो

Yes Bank latest news: कर्ज के संकट में फंसे Yes Bank पर शिकंजा कसते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ने ग्राहकों के महीने में 50,000 रुपये तक निकालने की सीमा तय कर दी है। इसके अलावा अपना प्रशासक नियुक्त कर दिया है। रिजर्व बैंक की ओर से Yes Bank पर लगाई गई पाबंदियां 3 अप्रैल, 2020 तक लागू रहेगीं। तब तक कोई भी ग्राहक अपने सेविंग्स, करंट और अन्य अकाउंट से 50,000 रुपये से अधिक नहीं निकाल सकता। हालांकि मेडिकल इमरजेंसी, शादी और एजुकेशन फीस जैसी जरूरतों ते लिए छूट है और ग्राहक 5 लाख रुपये तक निकाल सकते हैं। यदि आप भी Yes Bank के ग्राहक हैं तो आपको कुछ बातें ध्यान रखने की जरूरत है…

घबराने की जरूरत नहीं: केंद्रीय बैंक ने ग्राहकों को भरोसा दिलाते हुए कहा है कि उन्हें किसी भी तरह से घबराने की जरूरत नहीं है। उनके हितों का पूरी तरह से संरक्षण किया जाएगा। बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट के तहत आरबीआई जल्दी ही यस बैंक के विलय या फिर उसके पुनर्गठन का प्रस्ताव लेकर आएगा।

30 दिन में बैंक पर फैसला लेगा RBI: भारतीय रिजर्व बैंक का कहना है कि 30 दिनों के भीतर वह Yes Bank के भविष्य पर फैसला ले लेगा। उसने अपने प्रशासक को इसलिए नियुक्त किया है ताकि ग्राहकों के बीच भरोसा पैदा हो सके और इस बीच केंद्रीय बैंक पुनर्गठन की प्रक्रिया पर काम करेगा। आरबीआई ने फिलहाल भारतीय स्टेट बैंक के सीएफओ प्रशांत कुमार को यस बैंक के प्रशासक के तौर पर नियुक्त किया है।

SBI डाल सकता है पूंजी: देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI के नेतृत्व वाले बैंकों के कंसोर्टियम की ओर से यस बैंक में 12 से 14 हजार करोड़ रुपये तक डाले जा सकते हैं। आरबीआई के पास यह प्रस्ताव है, जिस पर वह विचार कर रहा है। गुरुवार को इस खबर के बाद शेयर मार्केट में यस बैंक के शेयरों में उछाल भी देखने को मिला था।

PMC बैंक में भी ऐसा ही हुआ था: बता दें कि करीब छह महीने पहले महाराष्ट्र के कॉपरेटिव बैंक पीएमसी में भी ऐसी स्थिति देखने को मिली थी। हालांकि ग्राहकों और निवेशकों के पैसों की आरबीआई की ओर से पूरी सुरक्षा की गई और धीरे-धीरे निकासी की लिमिट को बढ़ाया गया। Yes Bank के मामले में भी ऐसा ही है और 3 अप्रैल, 2020 के बाद निश्चित तौर पर निकासी की सीमा में इजाफा होगा।

 

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट