ताज़ा खबर
 

भारतीयों में घट रहा है स्विस बैंकों का आकर्षण, गोपनीयता खत्म करने की तैयारी बड़ी वजह

स्विट्जरलैंड सरकार द्वारा कालाधन जमा करने वाले संदिग्ध भारतीयों की जांच में भारत सरकार के साथ सहयोग की इच्छा जताए जाने के बीच अमीर भारतीयों का स्विस बैंकों के प्रति आकर्षण घट रहा है। शनिवार को यहां संपन्न विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के सालाना सम्मेलन में स्विस बैंकों को भारतीयों की ओर से कारोबार के […]

Author January 26, 2015 10:51 AM
यहां डब्ल्यूईएफ की वार्षिक बैठक के मौके पर अलग से स्विट्जरलैंड ने भारत को कर सूचनाओं के आदान प्रदान पर पूर्ण सहयोग का भरोसा दिलाया है। (तस्वीर-रॉयटर्स)

स्विट्जरलैंड सरकार द्वारा कालाधन जमा करने वाले संदिग्ध भारतीयों की जांच में भारत सरकार के साथ सहयोग की इच्छा जताए जाने के बीच अमीर भारतीयों का स्विस बैंकों के प्रति आकर्षण घट रहा है।

शनिवार को यहां संपन्न विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के सालाना सम्मेलन में स्विस बैंकों को भारतीयों की ओर से कारोबार के ज्यादा प्रस्ताव नहीं मिल सके।

स्विस बैंक यहां ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए पुख्ता गोपनीयता की जगह अपनी शानदार बैंकिंग सेवाओं पर जोर दे रहे थे पर भारतीय उद्योगपति इससे अधिक प्रभावित नहीं दिखे।

बावजूद इसके यहां बड़ी संख्या में मौजूद भारतीयों ने छोटे बड़े कई स्विस बैंकों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। हालांकि, इनमें से अधिकांश का दावा था कि उनकी ये बैठकें निजी धन के प्रबंध के बारे में नहीं बल्कि कॉरपोरेट बैंकिंग की जरूरतों के संबंध में थीं।

दावोस हमेशा से स्विट्जरलैंड के वित्तीय संस्थानों के लिए भारत समेत दुनिया भर के देशों के नए ग्राहक बनाने और कारोबार की दृष्टि से आकर्षक जगह रहा है।

हालांकि, स्विस बैंकों की गोपनीयता की दीवार हटाने के लिए वैश्विक स्तर पर बढ़ते दबाव और स्विस बैंकों में कालाधन रखने वाले भारतीयों पर कानूनी कार्रवाई करने के भारत सरकार के निरंतर प्रयास का फल मिलने लगा है। स्विट्जरलैंड सरकार अपने यहां जमा भारतीयों के अघोषित धन की जांच में सहयोग को तैयार दिखती है।

यहां डब्ल्यूईएफ की वार्षिक बैठक के मौके पर अलग से स्विट्जरलैंड ने भारत को कर सूचनाओं के आदान प्रदान पर पूर्ण सहयोग का भरोसा दिलाया है। स्विस वित्त मंत्री एवलाइन विडमर श्लम्फ ने यहां वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ मुलाकात के बाद कहा, ‘‘हमारी शानदार बैठक हुई। भारत के साथ सहयोग के काफी अवसर हैं।’’

वित्त मंत्री जेटली ने भी कहा कि स्विट्जरलैंड कालेधन के मामलों में स्वतंत्र साक्ष्य प्रस्तुत करने पर जांच में सहयोग को तैयार है और सूचनाओं के स्वत:आदन प्रदान की व्यवस्था से कालेधन के खतरे पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App