ताज़ा खबर
 

विश्व पुस्तक मेला: अतिथि देश चीन के लेखकों की टैगोर, मोदी पर पुस्तकें

दिल्ली विश्व पुस्तक मेले में अतिथि देश चीन के प्रकाशकों ने गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चीनी लेखकों की पुस्तकें पेश की हैं..

Author नई दिल्ली | January 12, 2016 01:46 am
विश्व पुस्तक मेले में किताब देखते आगंतुक। (पीटीआई फाइल फोटो)

दिल्ली विश्व पुस्तक मेले में अतिथि देश चीन के प्रकाशकों ने गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चीनी लेखकों की पुस्तकें पेश की हैं। इनमें न्यूयार्क टाइम्स में प्रकाशित विशिष्ठ लेखों का संग्रह, नयी श्रृंखला ‘ययावारी आवारगी’ भी शामिल हैं। चीन के इंटेलेक्चुअल प्रोपर्टी पब्लिशिंग के प्रबंधक यिन यमीन ने कहा कि अतिथि देश के रूप में इस बार चीन को भारत विश्व पुस्तक मेले में स्थान मिलना सम्मान की बात है । हम पुस्तकों के माध्यम से न केवल भारत के लोगों को चीन की संस्कृति और विरासत से रूबरू कराना चाहते हैं बल्कि यह भी बताना चाहते हैं कि भारत एवं यहां के लोगों एवं संस्कृति के बारे में चीन में कितनी जिज्ञासा है।

उन्होंने कहा कि पुस्तक मेले में इस बार विख्यात साहित्यकार रवींद्रनाथ टैगोर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पुस्तकें पेश की गई है। विभिन्न प्रकाशकों द्वारा पेश इनमें से कई पुस्तकें किसी पुस्तक का अनुवाद नहीं है बल्कि मूल पुस्तकें हैं। चीन में लोगों में प्रधानमंत्री मोदी के बारे में यह जिज्ञासा है कि एक साधारण परिवार का व्यक्ति किस प्रकार से शीर्ष पर पहुंचा ।

प्रगति मैदान में चीन का बड़ा पेवेलियन है जिसमें करीब 5 हजार पुस्तकें हैं । ये पुस्तकें हिंदी और अंग्रेजी अनुवाद स्वरूप में उपलब्ध हैं। पुस्तक मेले में एक खास आकर्षण न्यूयार्क टाइम्स में पिछले कई सालों में प्रकाशित लेखों का संग्रह है जो ‘न्यूयार्क रिव्यूअर’ के नाम से उपलब्ध है ।

पुस्तक मेले में पेंग्विन प्रकाशन और हार्पर कालिन्स ने कई क्लासिकल पुस्तकें पेश की हैं । इनमें पेंग्विन की लेखक विक्टर ह्यूगो की ‘द रेच्ड’, मार्गेट डेबाल की ‘इ निडिल आई’, हेनोर दी वालजेक की ‘इ ब्लैक शिप’, लाइनल ट्रिलिंग की ‘लिबरल इमेजिनेशन शामिल हैं।

यही नहीं पुस्तक प्रेमियों के लिए मेले में छोटी क्लासिक कहानियों पर आधारित पुस्तकें भी उपलब्ध हैं जिन पर फिल्में बन चुकी हैं। इनमें एच पी लवक्राफ्ट की ‘द काल आॅफ दी कानयन’, एच जी वेल्स की ‘एम्पायर आफ दि आंट्स’ शामिल हैं।
हार्पर कालिन्स ने सिने अभिनेताओं मधुबाला, स्मिता पाटिल, अमिताभ बच्चन के अलावा सत्यजीत राय, विमल राय के जीवन के कुछ अनछुए पहलुओं को शामिल करते हुए कई संस्करण पेश किए हैं। पुस्तक मेले में अंतरराष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी अनुराधा बेनीवाल की पुस्तक ‘आजादी मेरा ब्रांड’ सहित नई श्रृंखला ‘ययावरी आवारगी’ पेश की गई । इसके साथ ही कस्तूरबा पर गिरिराज किशोर का उपन्यास ‘बा’ भी पुस्तक प्रेमियों के लिए उपलब्ध है।

राजकमल प्रकाशन पुस्तक मेले के दौरान आदिवासी विमर्श पर जोर दे रहा है और इस संदर्भ में ‘माटी, माटी प्रकृति’ और ‘एलिस एक्का की कहानियां’ प्रदर्शित कर रही है। ‘लप्रेक श्रृंखला’ की पुस्तक ‘इश्क में माटी सोना’ और ‘इश्क कोई न्यूज नहीं’ भी पाठकों के लिए उपलब्ध है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App