ताज़ा खबर
 

दौलत में पीछे, दान में आगे हैं देश के ये दो अरबपति, जानिए कितनी रकम कर चुके हैं डोनेट

दान के मामले में मुकेश अंबानी से आगे दो और अरबपति हैं। ये दो अरबपति विप्रो के अजीम प्रेमजी और एचसीएल के मुखिया शिव नादर हैं।

अजीम प्रेमजी और शिव नादर (Photo-PTI )

देश के दौलतमंद अरबपतियों की बात होती है तो मुकेश अंबानी का नाम सबसे आगे आता है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी दुनिया के 13वें सबसे दौलतमंद अरबपति हैं। हालांकि, दान के मामले में मुकेश अंबानी से आगे दो और अरबपति हैं। ये दो अरबपति विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी और एचसीएल के मुखिया शिव नादर हैं।

अजीम प्रेमजी ने कितना दान किया: साल 2020 के नवंबर महीने में हुरुन रिपोर्ट इंडिया और एडेलगिव फाउंडेशन ने देश के दानदाताओं की लिस्ट जारी की थी। इस लिस्ट के मुताबिक अजीम प्रेमजी ने साल 2020 में कुल 7,904 करोड़ रुपये दान दिए हैं। अगर हर दिन के हिसाब से देखें तो लगभग 22 करोड़ रुपये होते हैं। प्रेमजी के बाद दूसरा नंबर HCL के फाउंडर शिव नादर का है। उन्होंने एक साल में 795 करोड़ रुपये दान किए।

वहीं, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी 458 करोड़ की डोनेशन के साथ तीसरे नंबर पर रहे। बीते साल की रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस ने कोरोना से निपटने के लिए पीएम केयर्स में भी 500 करोड़ रुपये दिए थे। विप्रो और प्रेमजी फाउंडेशन की ओर से भी दान दिए जा चुके हैं।

कितनी है दौलत: अजीम प्रेमजी के दौलत की बात करें तो 31.3 बिलियन डॉलर है और वह देश के तीसरे जबकि दुनिया के 47वें सबसे अमीर अरबपति हैं। अगर शिव नादर की बात करें तो वो देश के पांचवें और दुनिया के 74वें सबसे अमीर शख्स हैं। उनकी संपत्ति 23.4 बिलियन डॉलर दर्ज की गई है। (ये पढ़ें-मुकेश अंबानी से ज्यादा है इन दो भाइयों की सैलरी, रिलायंस में मिली है बड़ी जिम्मेदारी)

कोरोना काल में रिलायंस सक्रिय: कोरोना काल में मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज सक्रिय है। कंपनी की ओर से जामनगर प्लांट में ऑक्सीजन प्रोड्यूस कर दूसरे राज्यों में फ्री में बांटा जा रहा है। इस बीच, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने इजरायल के विशेषज्ञों की एक टीम को भारत आने की अनुमति दिये जाने की मांग की है।

विशेषज्ञों की यह टीम कोविड- 19 की त्वरित पहचान के उपकरण भारत में स्थापित करेगी। रिलायंस ने इस प्रणाली को इजरायल के एक स्टार्टअप से डेढ करोड़ डालर में हासिल किया है। बता दें कि रिलायंस समूह ने जनवरी में बीओएच के साथ उसकी सांस के जरिये कोविड- 19 का परीक्षण करने की प्रणाली को लेकर डेढ करोड़ डालर का समझौता किया है। समझौते के मुताबिक इस प्रणाली के जरिये रिलायंस इंडस्ट्रीज बड़े पैमाने पर कोविड- 19 की जांच कर सकेगी।

Next Stories
1 कर्ज में डूबे अनिल अंबानी के लिए अच्छी खबर, इस कंपनी को फिर हुआ मुनाफा
2 दुनिया के टॉप 4 अरबपति, अकूत दौलत और शोहरत, फिर भी टूट गया रिश्ता
3 डाबर को हुआ बड़ा मुनाफा, यहां रामदेव के पतंजलि से मिलती है टक्कर
ये पढ़ा क्या?
X