ताज़ा खबर
 

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर wi-fi सुविधा शुरू

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने सोमवार को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन परिसर में वाई-फाई इंटरनेट सेवा को आरंभ किया। उन्होंने इस मौके पर कहा कि भारतीय रेलवे 12 महीनों के भीतर 75 ए-एक श्रेणी के रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा मुहैया करेगी। प्रायोगिक तौर पर शुरू इस सुविधा को आगरा, अहमदाबाद और वाराणसी […]

Author December 9, 2014 12:08 PM
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर सोमवार को वाई फाई ब्राडबैंड सेवा का इस्तेमाल करता एक टिकट निरीक्षक।

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने सोमवार को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन परिसर में वाई-फाई इंटरनेट सेवा को आरंभ किया। उन्होंने इस मौके पर कहा कि भारतीय रेलवे 12 महीनों के भीतर 75 ए-एक श्रेणी के रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा मुहैया करेगी। प्रायोगिक तौर पर शुरू इस सुविधा को आगरा, अहमदाबाद और वाराणसी में इस माह के आखिर तक बहाल किया जाना है। जनवरी, 2015 तक हावड़ा, छत्रपति शिवाजी टर्मिनल मुंबई और सिकंदराबाद रेलवे स्टेशनों पर लगाया जाएगा। संचार और सूचना तकनीक मंत्रालय को दूर-दराज के क्षेत्रों के रेलवे स्टेशनों पर भी वाई-फाई सुविधा लगाने के लिए वित्तीय सहयोग देने की पेशकश की गई है।

वाई-फाई पर आधार चलने वाले रेल वायर इंजन से उपयोगकर्ताओं को तस्वीरें, वीडियो और दस्तावेज डाउनलोड करने के लिए एक एमबीपीएस की अधिकतम गति उपलब्ध होगी। इस वाई-फाई को इंस्टाल करने की प्रक्रिया बहुत सरल है। उपयोगकर्ताओं को उनके मोबाइल पर वाई-फाई नेटवर्क रजिस्टर करने पर पहले 30 मिनट की अवधि के लिए निशुल्क वाई-फाई सुविधा मुहैया की जाएगी। 30 मिनट से अधिक समय तक इस सुविधा को जारी रखने वाले उपयोगकर्ताओं को स्क्रैच कार्ड खरीदना होगा, जो रेलवे स्टेशन के पहाड़गंज और अजमेरी गेट प्लेटफार्म एक व 16 की ओर बने परिसंचारी क्षेत्र में बनी वाई-फाई सहायता बूथ पर 24 घंटे उपलब्ध रहेगा। इस कार्ड की कीमत 30 मिनट के लिए 25 रुपए और एक घंटे के लिए 35 रुपए होगा, जो 24 घंटों के लिए वैध होगा।

वाई-फाई के माध्यम से इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए रेल टेल के ब्राड बैंड वितरण माडल रेल वायर इंजन को स्थापित किया गया। भारतीय रेल टेल निगम की ओर से उपलब्ध कराई गई इस वाई-फाई सुविधा में एक रिंग में आप्टिक फाइबर के इस्तेमाल से गीगाबाईट ईथरनेट नेटवर्क का इस्तेमाल किया गया है । 60 वायरलैस एक्सेस पाइंट को सक्रिय करने वाले ऐसे 22 जीई स्विच नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के 16 प्लेटफार्मों, फुट ओवर ब्रिज व कांकोर्स पर आप्टिकल फाइबर के बल बिछाई गई हैं। इस परियोजना पर कुल 50 लाख रुपए की लागत आई है। इस सुविधा को बनाए रखने के लिए सालाना 16 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे।

रेल टेल इस वाई-फाई सुविधा को भारतीय रेलवे के ए-एक और ए श्रेणी के रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध कराने की प्रक्रिया में है। यह काम बेंगलूर रेलवे स्टेशन की पायलट परियोजना के सफल होने के बाद किया जाएगा। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन उत्तर भारत का पहला ऐसा रेलवे स्टेशन है, जहां यह सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन राष्टÑीय राजधानी दिल्ली का सबसे महत्वपूर्ण और व्यस्त रेलवे स्टेशन है। यहां से रोजाना पांच लाख से अधिक रेलयात्री आवाजाही करते हैं। इस सुविधा के उपलब्ध होने से वे लगातार अपने परिचितों से जुडे रह सकते हैं। भारत सरकार के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत ब्रॉड बैंड सुविधा उपलब्ध कराने का लक्ष्य है।

इस मौके पर सांसद, मीनाक्षी लेखी,अरुणेंद्र कुमार, अध्यक्ष, रेलवे बोर्ड, सदस्य, यातायात,डीपी पांडे, सदस्य इंजीनियरिंग, वीके गुप्ता, सदस्य कार्मिक,एके मित्तल महाप्रबंधक, उत्तर रेलवे,प्रदीप कुमार,एके सचान, मंडल रेल प्रबन्धक, उत्तर रेलवे, नई दिल्ली व अन्य वरिष्ठ रेल अधिकारी भी उपस्थित थे।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories