ताज़ा खबर
 

जान‍िए क्‍या कह कर मुकेश अंबानी ने आनंद प‍िरामल को बनाया एंटरप्रेन्‍योर, अब बना रहे दामाद

Anand Piramal: आनंद ने अपना फैमिली बिजनेस पिरामल ग्रुप ज्वाइन करने से पहले पिरामल ईस्वास्थ्य स्टार्टअप शुरू किया। इसका उद्देश्य आम भारतीयों को सस्ती हेल्थ सेवा देना है।

वह पिरामल ग्रुप के रियल एस्टेट बिजनेस को संभालते हैं। आनंद पिरामल ग्रुप में सक्रिय रूप से इन्वॉल्व रहते हैं।

मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी की शादी होने वाली है। इसकी चर्चा खूब हो रही है। अब देश के सबसे अमीर आदमी की बेटी की शादी जिससे होगी वह भी खास ही होगा। चलिए हम आपको बताते हैं कि ईशा अंबानी से शादी करने जा रहे आनंद पिरामल कौन हैं? आनंद पिरामल एक बिजनेसमैन हैं। आनंद पिरामल अरबपति बिजनेसमैन अजय पिरामल के बेटे हैं। 33 साल के आनंद ने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से ग्रैजुएशन की है। इसके अलावा आंनद ने इकॉनोमिक्स में यूनिवर्सिटी ऑफ पेन्सिलवेनिया से बैचलर डिग्री भी ली है। वह पिरामल ग्रुप के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं।

आनंद पिरामल, पिरामल ग्रुप के रियल एस्टेट बिजनेस को संभालते हैं। आनंद पिरामल ग्रुप में सक्रिय रूप से इन्वॉल्व रहते हैं। आनंद ने अपना फैमिली बिजनेस पिरामल ग्रुप जॉइन करने से पहले पिरामल ईस्वास्थ्य स्टार्टअप शुरू किया। इसका उद्देश्य आम भारतीयों को सस्ती हेल्थ सेवा देना है। आनंद सबसे कम उम्र के इंडियन मर्चेंट चेंबर-यूथ विंग के प्रेसिडेंट भी बने। इसके बाद आनंद ने अपना दूसरा स्टार्टअप पिरामल रिएल्टी स्टार्ट किया। अब यह दोनों स्टार्टअप 4 बिलियन डॉलर की पिरामल एंटरप्राइजेज का हिस्सा हैं।

आनंद पिरामल ने हाल ही में मुकेश अंबानी को भी शुक्रिया कहा था। उन्होंने शुक्रिया इसलिए किया क्योंकि मुकेश अंबानी ने ही उन्हें एक एंटरप्रेन्‍योर बनने के लिए उत्साहित किया था। एक इवेंट में आनंद ने कहा था, “मैंने जब उनसे पूछा कि मुझे कंस्लटिंग में जाना चाहिए या बैंकिंग में। उन्होंने मुझसे कहा कि एक कंस्लटेंट होना ऐसे होता है जैसे क्रिकेट देखना और क्रिकेट के बारे में कमेंट्री करना। वहीं एक एंटरप्रेन्‍योर होना क्रिकेट खेलने जैसा होता है। आप कभी कमेंट्री करके क्रिकेट खेलना नहीं सीख सकते हैं। अगर आप कुछ करना चाहते हैं, और लंबे समय तक बिजनेस करना चाहते हैं तो अभी शुरू करें।”

आनंद पूरी मुंबई में प्राइम लैंड का अधिग्रहण करते हैं और कई प्रोजेक्ट्स के लिए उन्होंने एक टीम भी बनाई हुई है। साल 2015 में आनंद ने गोल्डमैन सैक्स और वारबर्ग पिंकस से 434 मिलियन डॉलर जुटाए थे। यह देश में रियल एस्टेट में सबसे बड़ा निजी इक्विटी निवेश था। साल 2018 में आनंद को हुरुन रियल एस्टेट यूनिकॉर्न ऑफ द ईयर 2017 अवॉर्ड भी मिला था। यह अवॉर्ड हैलो! मैग्जीन की तरफ से दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App