ताज़ा खबर
 

विजय माल्या ने 300 बैग लेकर छोड़ा था भारत!

कौन 300 बैग लेकर किसी बैठक में भाग लेने जाता है? प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को यहां एक विशेष अदालत में विजय माल्या के वकील से यह सवाल किया।

Author December 13, 2018 10:17 AM
जल्द भारत आएगा विजय माल्या

कौन 300 बैग लेकर किसी बैठक में भाग लेने जाता है? प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को यहां एक विशेष अदालत में विजय माल्या के वकील से यह सवाल किया। ईडी ने इस दावे को खारिज कर दिया कि शराब कारोबारी मार्च, 2016 में जिनेवा में एक कार्यक्रम में भाग लेने गए थे और भागे नहीं गए थे।
माल्या के वकील अमित देसाई ने मंगलवार को मनी लांड्रिंग रोधक कानून (पीएमएलए) से जुड़े मामलों के विशेष जज एम एस आजमी ने दावा किया था कि उनके मुवक्किल गुपचुप तरीके से देश छोड़कर नहीं गए थे।

उन्होंने कहा कि वह गुपचुप तरीके से नहीं गए थे। वह स्विट्जरलैंड के जिनेवा में पहले से तय वर्ल्ड मोटर स्पोर्ट की बैठक में भाग लेने गए थे। हालांकि, ईडी के वकील डी एन सिंह ने देसाई के दावे को गलत बताया। उन्होंने कहा, ‘‘उनके पास ऐसा दिखाने के लिए कुछ भी नहीं है जिससे पता चलता हो कि वह बैठक में भाग लेने भारत से बाहर गए थे।

कौन बैठक में भाग लेने के लिए 300 बैग और भारी मात्रा में सामान लेकर जाता है।’’ माल्या दो मार्च, 2016 को भारत गए थे और अब वह ब्रिटेन में हैं। लंदन की एक अदालत ने सोमवार को माल्या को भारत को सौंपने का आदेश दिया है। माल्या पर कथित रूप से 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी तथा मनी लॉड्रिंग का मामला है।

10 दिसंबर को लंदन की एक अदालत ने आदेश दिया कि बैंकों के साथ भारी धोखाधड़ी के आरोपों की सुनवाई के लिए भगोड़े उद्योगपति विजय माल्या को ब्रिटेन से भारत को प्रत्यर्पित किया जाए। अदालत ने कहा कि यह अभियोग राजनीति से प्रेरित है, इसका कोई सबूत नहीं है। द वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की एम्मा अर्बथनॉट ने कहा, “माल्या की पैरवी पर मीडिया का ज्यादा ध्यान होने के कारण संभावित प्रभाव की आलोचना को यह अदालत स्वीकार नहीं करती और यह भी कि इससे मामले की निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी। अदालत ने कहा, “इस अदालत के पास यह पता लगाने के अपर्याप्त सबूत हैं कि उनकी सुनवाई एक सक्षम व निष्पक्ष अदालत द्वारा नहीं होगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App