ताज़ा खबर
 

आप कभी नहीं बन पाएंगी मां… महज 23 साल की उम्र में डॉक्टर के ये शब्द सुन हिल गई थीं नीता अंबानी

नीता अंबानी ने इंटरव्यू में कहा था, 'शादी के कुछ सालों बाद डॉक्टरों ने मुझे बताया कि मैं कभी मां नहीं बन सकती। यहां तक मैं जब स्कूल में थी, तब भी इस शीर्षक से निबंध लिखती थी, 'जब मैं मां बनूंगी...'। लेकिन 23 साल की उम्र में डॉक्टरों ने जब यह बात कही तो मैं हिल गई।'

mukesh ambani nita ambaniपत्नी नीता अंबानी के साथ मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मुखिया मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी तीन बच्चों की मां हैं, लेकिन महज 23 साल की उम्र में ही डॉक्टर ने उनसे कहा था कि वह कभी मां नहीं बन सकतीं। डॉक्टर के इन शब्दों को सुनकर नीता अंबानी हिल गई थीं। IDiva मैगजीन को 2011 में दिए एक इंटरव्यू में नीता अंबानी ने अपने अनुभव को शेयर करते हुए कहा था कि वह स्कूली जीवन में अकसर इस पर निबंध लिखती थीं कि मां बनने के बाद वह क्या करेंगी। दुनिया की हर महिला की तरह नीता अंबानी भी मां बनने के बारे में सोचती थीं, लेकिन डॉक्टर की यह बात उन्हें अंदर तक झकझोरने वाली थी।

नीता अंबानी ने इंटरव्यू में कहा था, ‘शादी के कुछ सालों बाद डॉक्टरों ने मुझे बताया कि मैं कभी मां नहीं बन सकती। यहां तक मैं जब स्कूल में थी, तब भी इस शीर्षक से निबंध लिखती थी, ‘जब मैं मां बनूंगी…’। लेकिन 23 साल की उम्र में डॉक्टरों ने जब यह बात कही तो मैं हिल गई। हालांकि फिर डॉ. फिरुजा पारिख की मदद से मैंने दो जुड़वां बच्चों (ईशा और आकाश अंबानी) को जन्म दिया।’ यही नहीं फरवरी 2019 में अपनी शादी के करीब एक महीने बाद ईशा अंबानी ने Vogue मैगजीन को दिए इंटरव्यू में बताया था कि उनका और आकाश का जन्म आईवीएफ (In Vitro Fertilization) से हुआ था।

ईशा अंबानी ने कहा था, ‘माता-पिता की शादी के 7 साल बाद मेरा और आकाश का जन्म हुआ था, हम दोनों आईवीएफ बेबीज हैं। मां फुल टाइम मॉम बनना चाहती थीं, लेकिन जब हम 5 साल के हुए तो उन्होंने फिर से काम शुरू किया।’ यही नहीं आकाश और ईशा अंबानी के जन्म के तीन साल बाद मुकेश अंबानी के घर छोटे बेटे अनंत का जन्म हुआ था। हालांकि यह पूरी तरह से नेचुरल बर्थ था। ईशा अंबानी कहती हैं कि उनकी मां हमेशा अनुशासन को लेकर सख्त थीं। ईशा ने अपने बचपन के दिनों को याद करते हुए बताया था, ‘मुझे याद है कि जब मैं और मां झगड़ते थे तो हम पापा को बुलाते थे। मेरी मां बेहद सख्त थीं। यदि हम कभी स्कूल बंक करना चाहते थे तो पापा कहते कोई बात नहीं। लेकिन मां सख्त थीं और हमेशा टाइम पर खाने, अच्छे से पढ़ने और वक्त पर खेलने का ध्यान रखती थीं।’

 

सप्ताह में बच्चों को सिर्फ 5 रुपये देती थीं नीता: खुद नीता अंबानी ने अपनी सख्त पैरेंटिंग से जुड़ा एक किस्सा शेयर करते हुए बताया था कि वह बच्चों को स्कूल कैंटीन में खर्च करने के लिए हर शुक्रवार को 5 रूपए देती थीं। नीता अंबानी के मुताबिक एक बार छोटे बेटे अनंत ने 10 रूपये की जिद्द की, जब मैने जब पूछा तुम्हें 10 रूपए क्यों चाहिए तो उसने कहा जब वह 5 रूपए का सिक्का निकालता है तो उसके दोस्त उस पर हंसते हैं और कहते हैं कि अंबानी है या भिखारी। इसपर मैं और मुकेश अपनी हंसी नहीं रोक पाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम नरेंद्र मोदी ने लॉन्च किया ‘पारदर्शी कराधान-ईमानदार का सम्मान’ प्लेटफॉर्म, बोले- राष्ट्रनिर्माण में ईमानदार टैक्सपेयर्स की बड़ी भूमिका
2 बेरोजगारों को बड़ी राहत देने की तैयारी, 6 महीने तक मिलेगा आखिरी वेतन के 50 पर्सेंट के बराबर भत्ता
3 TikTok की भारतीय यूनिट खरीदेंगे मुकेश अंबानी? रिपोर्ट में दावा- नफ़ा-नुक़सान का हिसाब लगा रही RIL