ताज़ा खबर
 

सेबी की नजर में है ‘डियाजियो-माल्या’ के बीच का समझौता

माल्या के साथ करोड़ों डॉलर का सौदा किए जाने के कई साल बाद भी डियाजियो समूह की मुश्किलें खत्म ही नहीं हो रही हैं।

Author नई दिल्ली | July 31, 2016 9:13 PM
शराब कारोबारी विजय माल्या। (एपी फाइल फोटो)

ब्रिटेन की शराब कंपनी डियाजियो के लिए मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। बाजार नियामक सेबी कंपनी को यूनाइटेड स्प्रिट्स के छोटे शेयरधारकों को अतिरिक्त भुगतान करने का निर्देश देने पर विचार कर रहा है ताकि कंपनी के तत्कालीन प्रवर्तक विजय माल्या को साथ किए गए कुछ ‘वरीयतापूर्ण’ व्यवहार के मद्देनजर छोटे शेयरधारकों की भी क्षतिपूर्ति हो सके। इन शेयरधारकों से कंपनी ने 2013 में एक खुली पेशकश के दौरान शेयर खरीदे थे। डियाजियो इस प्रकार की मांग के खिलाफ है और वह इसके विरुद्ध एक अपील दायर करने का विचार कर रही है।

हालांकि सेबी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि प्रथमदृष्टया सेबी का मानना है कि उस खुली पेशकश के दौरान छोटे निवेशकों के हितों के साथ समझौता किया गया क्योंकि यूनाइटेड स्प्रिट्स में नियंत्रणकारी हिस्सेदारी खरीदने के लिए विजय माल्या के साथ किए गए समझौते में डियाजियो ने कुछ समझौतों का खुलासा नहीं किया जिसमें कुछ रिण गारंटियां भी थीं।

गौरतलब है कि माल्या के साथ करोड़ों डॉलर का सौदा किए जाने के कई साल बाद भी डियाजियो समूह की मुश्किलें खत्म ही नहीं हो रही हैं। उसे कई नियामकीय मोर्चों पर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। कंपनी माल्या को 7.5 करोड़ डॉलर दे कर उनको अंतिम विदायी देने का समझौता करने के बावजूद माल्या से साथ विवाद में उलझ गयी है। माल्या खुद भारत के बैंकों और कर एजेंसियों की देनदारियों को लेकर गहरे संकट में हैं और देश से बाहर चले गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App