ताज़ा खबर
 

डॉनल्ड ट्रंप ने भारत को दी ‘जवाबी टैक्स’ लगाने की धमकी

हर्ली डेविडसन एक अमेरिकी कंपनी है और भारत में इसके बाइक्स की काफी बिक्री होती है। ट्रंप ने बार-बार इस बात पर जोर दिया है कि भारत से आयात होने वाली मोटरसाइकिलों पर अमेरिका में जीरो टैक्स लगाया जा रहा है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत और चीन जैसे देशों को अमेरिकी टैरिफ के मुताबिक नहीं चलने पर जवाबी टैक्स लगाने की धमकी दी है। ट्रंप भारत में हर्ली डेविडसन बाइक पर लगाए जा रहे 50 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी को लेकर काफी नाराज हैं और पिछले दिनों इसके खिलाफ कई बार बोल चुके हैं। हर्ली डेविडसन एक अमेरिकी कंपनी है और भारत में इसके बाइक्स की काफी बिक्री होती है। ट्रंप ने बार-बार इस बात पर जोर दिया है कि भारत से आयात होने वाली मोटरसाइकिलों पर अमेरिका में जीरो टैक्स लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘यदि चीन हम पर 25 फीसदी चार्ज लगाएगा और भारत 75 फीसदी चार्ज करेगा तो हम भी इसके जवाब में उतना ही टैक्स लगाएंगे।’ जैसा कि उन्होंने कनाडा और मैक्सिको को छोड़कर अन्य देशों के ऐल्युमिनियम पर 10 फीसदी और स्टील पर 25 फीसदी टैरिफ लगाया है।

ट्रंप ने कहा, ‘वे 25, 50 या 75 फीसदी लगाते हैं तो हम भी उतना ही टैक्स लगाएंगे। इसे पारस्परिक कहा जाता है। इसलिए यदि वह हम पर 50 फीसदी चार्ज करते हैं तो हम भी उनसे 50 चार्ज करेंगे।’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि उनके प्रशासन के पहले साल में पारस्परिक टैक्स का मंच तैयार हो चुका है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी कंपनियों से दूसरे देशों ने ठीक व्यवहार नहीं किया है। उन्होंने टेस्ला चीफ एलन मस्क के एक ट्वीट का हवाला देते हुए कहा, ‘चीन अमेरिकी कारों पर 25 फीसदी ड्यूटी लगाता है, जबकि अमेरिका में चीनी कारों के आयात पर केवल 2.5 फीसदी चार्ज किया जाता है।’

ट्रंप ने कहा कि ‘पारस्परिक टैक्स’ योजना अमेरिका के लिए फेयर ट्रेड डील को सुनिश्चित करेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस दौरान कई बार चीन का नाम लिया। आपको बता दें कि 1950-51 में भारत का कुल विदेश व्यापार (आयात एवं निर्यात)  1214 करोड़ रुपए था। तब से, यह समय-समय पर मंदी के साथ लगातार वृद्धि करने का साक्षी है। हालांकि, इस सब के बावजूद भारत दुनिया में सबसे आयात करने वाले देशों में शामिल है। 2016 में भारत 256 अरब डॉलर (करीब 17 लाख करोड़) का इंपोर्ट कर दुनिया का 18वां सबसे ज्यादा इंपोर्ट करने वाला देश रहा। इसके पहले 2014 में भारत 300 अरब डॉलर से ज्यादा इंपोर्ट कर 14वें नंबर पर था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App