ताज़ा खबर
 

डॉलर के मुकाबले रुपया 26 पैसे गिरकर 66.68 पर

कारोबार के दौरान यह 66.76 रुपए प्रति डॉलर के निम्न स्तर को छूने के बाद अंत में 26 पैसे अथवा 0.39 प्रतिशत की भारी गिरावट प्रदर्शित करता 66.68 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

Author मुंबई | Published on: September 9, 2016 8:23 PM
500 के पुराने नोटों की गिनती करता एक व्यक्ति। (चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।)

बैंकों और आयातकों की ताजा डॉलर मांग से घरेलू शेयर बाजार के अनुरूप रुपया शुक्रवार (9 सितंबर) को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 26 पैसे की गिरावट दर्शाता 66.68 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ जो पांच सप्ताह में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट को दर्शाता है। बाजार सूत्रों ने कहा कि यूरोपीय केन्द्रीय बैंक द्वारा अपने मौद्रिक नीति के रुख को अपरिवर्तित रखने के फैसले के बाद वैश्विक बाजारों के रुख के अनुरूप घरेलू शेयरों में भारी बिकवाली के कारण मुख्यत: रुपए की धारणा प्रभावित हुई। तीन अगस्त 2016 के बाद यह एक दिन में आई सर्वाधिक गिरावट रही है।

बाजार सूत्रों ने कहा कि डीलरों ने सोमवार को अगस्त महीने के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) मुद्रास्फीति: आंकड़े तथा जुलाई के लिए औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) जैसे वृहद आर्थिक आंकड़ों के आने से पहले लंबे सौदेबाजी से बचे। अन्तरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में घरेलू बैंकों और आयातकों की पहल पर भारी डॉलर लिवाली के बीच रुपया 66.57 रुपए प्रति डॉलर पर कमजोर खुला। कारोबार के दौरान यह 66.76 रुपए प्रति डॉलर के निम्न स्तर को छूने के बाद अंत में 26 पैसे अथवा 0.39 प्रतिशत की भारी गिरावट प्रदर्शित करता 66.68 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान रुपया थोड़े समय के लिए 66.5275 रुपए प्रति डॉलर के स्तर को छू गया था। बंबई शेयर बाजार का सूचकांक शुक्रवार को 248.03 अंक की गिरावट के साथ 28,797.25 अंक पर बंद हुआ। जबकि निफ्टी 85.80 अंकों की गिरावट के साथ 8,866.70 अंक पर बंद हुआ। इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार के कारोबार के लिए डॉलर रुपया संदर्भ दर 66.5462 रुपए प्रति डॉलर और यूरो-रुपए के लिए 75.0242 रुपए प्रति यूरो निर्धारित की थी। अन्तरमुद्रा विनिमय कारोबार में पौंड और यूरो के मुकाबले रुपए में गिरावट आई जबकि जापानी येन के मुकाबले रुपए में सुधार आया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भारत का 2022 तक कच्चे तेल का आयात 10 प्रतिशत कम करने का लक्ष्य: धर्मेंद्र प्रधान
2 ‘मांग बढ़ने के साथ किराया में वृद्धि से रेलवे को ज्यादा आमदनी नहीं, यात्री जरूर होंगे परेशान’
3 ब्रिटानिया ने दिल्ली हाई कोर्ट से कहा, एकल जज की पीठ के आदेश से हो रहा नुकसान