ताज़ा खबर
 

बैंक कर्मचारी संघ ने कहा- उर्जित पटेल का जाना खतरनाक संकेत

अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल के सोमवार को इस्तीफा देने को एक 'खतरनाक चलन' करार दिया है।

Author Updated: December 11, 2018 1:30 PM
Urjit Patelआरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल। (file photo)

अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल के सोमवार को इस्तीफा देने को एक ‘खतरनाक चलन’ करार दिया है। हालांकि, पहले संघ ने भी पटेल के इस्तीफे की मांग की थी। एआईबीईए के महासचिव सी.एच. वेंकटचलम ने कहा, “आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफा हैरान और परेशान करने वाला है। उनके इस्तीफे के कारण स्पष्ट हैं और यह एक खतरनाक चलन का संकेत हैं कि आरबीआई जैसे संस्थान अब स्वतंत्र नहीं हैं।”

वेंकटचलम ने कहा कि ऐसे वक्त में जब एक मजबूत और स्वतंत्र आरबीआई की जरूरत है, ऐसे में इस महत्वपूर्ण संस्थान को केंद्र सरकार द्वारा डराया धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार आरबीआई को कमजोर करने में लगी है और इसे खुद की राजनीतिक जरूरतों को पूरा करने के लिए लचीला बना रही है। एआईबीईए की पहले पटेल के इस्तीफे की मांग के बारे में पूछे जाने पर वेंकटचलम ने आईएएनएस से कहा, “हम नीरव मोदी के मुद्दे पर निष्क्रियता को लेकर उनके इस्तीफे की मांग कर रहे थे। यह अलग मुद्दा है। यह आरबीआई को कमजोर करने का प्रयास है।”

पटेल के जाने के बाद अब भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन ने सोमवार को कहा कि वह आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे से ‘दुखी’ और ‘हैरान’ हैं। रंगराजन ने आईएएनएस से कहा, “यह दुखद है, क्योंकि आरबीआई गवर्नर के इस्तीफे का असर वित्तीय बाजार पर पड़ेगा। सरकार को तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए और तुरंत एक नया गवर्नर नियुक्त करना चाहिए।”

आंध्रप्रदेश के पूर्व राज्यपाल रंगराजन ने कहा, “उन्होंने इस्तीफा देने का निजी कारण बताया है, लेकिन उनके इस्तीफे के पीछे कुछ कारण जरूर रहे होंगे।”
हैरान क्यों हैं? यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “मैंने सोचा था कि बोर्ड की अंतिम बैठक में आरबीआई और केंद्र सरकार के बीच कई मामले सुलझा लिए गए हैं और बाकी मुद्दे भी जल्द ही सुलझा लिए जाएंगे। रंगराजन वर्ष 2009-14 के दौरान प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष भी थे।

रंगराजन के अनुसार, वह समझते थे कि आरबीआई और केंद्र के बीच मुद्दे सुलझा लिए गए हैं और समितियों के गठन को लेकर एक-दो चीजों को सुलझाया जाना बाकी रह गया है। उर्जित पटेल ने सोमवार को ‘निजी कारणों’ का हवाला देते हुए अचानक इस्तीफा दे दिया। उन्होंने आरबीआई की ओर से जारी एक संक्षिप्त बयान में कहा, “मैंने निजी कारणों से अपने मौजूदा पद से तत्काल इस्तीफा देने का निर्णय लिया है।”

उन्होंने बयान में कहा, “वर्षो तक आरबीआई में विभिन्न पदों पर काम करना मेरे लिए सौभाग्य और सम्मान की बात रही है। इन वर्षो में आरबीआई के कर्मचारियों, अधिकारियों और प्रबंधन के सहयोग और कठिन परिश्रम से बैंक ने सराहनीय उपलब्धियां हासिल की।”

पटेल ने कहा, “मैं इस अवसर पर अपने सहयोगियों और आरबीआई केंद्रीय बोर्ड के निदेशकों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IRCTC: स्टेशन पर पानी पीना होगा महंगा, जानें रेलवे ने कितने बढ़ाए दाम
2 सात हजार करोड़ रुपये से अधिक बकाया, नीरव मोदी और उसके परिवार को DRT का नोटिस
3 पूर्व आर्थिक सलाहकार बोले- नोटबंदी ने पैदा की राजनीतिक, आर्थिक उलझनें
ये पढ़ा क्या ?
X