scorecardresearch

उम्‍मीदों के मुताबिक करें काम या कर लें पैकअप, केंद्रीय मंत्री अश्‍व‍िनी वैष्‍णव का BSNL के कर्मचारियों को अल्‍टीमेटम

टेलीकॉम मंत्री अश्विनी वैष्‍णव ने BSNL के कर्मचारियों को अल्‍टीमेटम जारी किया है। अगर आप उम्‍मीदों के मुताबिक काम नहीं कर सकते हैं तो घर के लिए पैकअप कर लें। ऐसे कर्मचारियों की सेवाएं समाप्‍त कर दी जाएंगी।

BSNL | Ashwini Vashnav | Telecom Minister
BSNL के कर्मचारियों को टेलीकॉम मंत्री ने दिया अल्‍टीमेटम (फोटो- PTI)

टेलीकॉम मंत्री अश्विनी वैष्‍णव ने BSNL के कर्मचारियों को अल्‍टीमेटम जारी किया है और कहा है कि अगर आप उम्‍मीदों के मुताबिक काम नहीं कर सकते हैं तो घर के लिए पैकअप कर लें। ऐसे कर्मचारियों की सेवाएं समाप्‍त कर दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि ‘सरकारी’ रवैया छोड़ दें, क्योंकि जो लोग उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं उन्हें अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्त करने और घर पैकिंग के लिए मजबूर किया जाएगा।

टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, मंत्री ने कहा कि MTNL को कोई भविष्‍य नहीं है, लेकिन इसकी स्थिति को सुधारने का प्रयास किया जा रहा है। आने वाले टाइम में इसके लिए बेहतर कदम उठाया जाएगा। अश्विनी वैष्णव ने कथित तौर पर BSNL के 62,000-मजबूत कर्मचारियों को चेतावनी दी थी कि इस मामले में कोई संदेश नहीं होना चाहिए।

संघर्षरत दूरसंचार सार्वजनिक उपक्रम वैष्णव के वरिष्ठ प्रबंधन के साथ एक बैठक में कहा गया कि अभी-अभी BSNL के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपए के बड़े पैमाने पर पुनरुद्धार पैकेज का नेतृत्व किया है। उन्‍होंने कहा, “आपको वह करना होगा जो आपसे अपेक्षित है। नहीं तो पैकअप कर लो। इस पर आपको कोई संदेह नहीं होना चाहिए।”

सरकार ने हाल ही में बीएसएनएल के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपए का पैकेज जारी है, जिसमें बकाया को इक्विटी में बदलना, वित्तीय सहायता और घाटे में चल रहे दूरसंचार पीएसयू को चालू करने के लिए स्पेक्ट्रम का आवंटन शामिल है। सूत्रों का कहना है कि मंत्री ने कर्मचारियों को अब जमकर प्रतिस्पर्धी होने के लिए कहा है, खासकर जब मार्केट में रिलायंस जियो और भारती एयरटेल जैसी शीर्ष निजी क्षेत्र की कंपनियां शामिल हैं।

मंत्री ने कहा, ‘काम नहीं करने वाले लोग वीआरएस लेकर घर जाने के लिए स्वतंत्र हैं। यदि वे वीआरएस लेने में प्रतिरोध दिखाते हैं, तो हम 56J (समय से पहले सेवानिवृत्ति का आदेश देने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला नियम) का उपयोग करेंगे। इसलिए, आपको सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा, या पैक अप करके घर जाने के लिए तैयार रहना होगा। यह बिल्कुल स्पष्ट है। इस बारे में अपने मन में कोई शंका न करें।”

मंत्री ने कहा कि बीएसएनएल के लिए एक और मेगा बेलआउट देने के बाद, वह अब मासिक आधार पर कंपनी के कर्मचारियों के प्रदर्शन की निगरानी करेंगे, जो भी मुद्दे थे, हम बीएसएनएल के साथ मजबूती से खड़े थे और अब हम 62,000 कर्मचारियों में से प्रत्येक से समान स्तर की प्रतिबद्धता की मांग कर रहे हैं और वे हर महीने KPI, प्रदर्शन, परिणाम की जांच करेंगे।

मंत्रालय द्वारा उठाए गए कदम दूरसंचार क्षेत्र में एकाधिकार की अनुमति नहीं देने की सरकार की अपेक्षाओं के अनुरूप हैं। उस आशय के लिए, केंद्र ने देश में दूरसंचार क्षेत्र को मजबूत करने के उपायों की घोषणा की है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X