Budget 2022: ओमिक्रॉन के कारण वित्त मंत्रालय को बदलनी पड़ी परंपरा, ‘हलवा’ की जगह कर्मचारियों को बांटी मिठाई

केंद्रीय बजट 2021-22 पहली बार पेपरलेस रूप में दिया गया था। संसद सदस्यों (MPs) और आम लोगों की ओर से बजट दस्तावेजों की परेशानी मुक्त पहुंच के लिए एक ‘केंद्रीय बजट मोबाइल ऐप’ (Union Budget Mobile App) भी लॉन्च किया गया था।

Budget 2022, Halwa Ceremony, Business News
दरअसल, बजट बनाने और उसकी छपाई से जुड़े कर्मचारियों के घर-परिवार से अलग रहने और बजट दस्तावेज की छपाई का काम परंपरागत ‘हलवा समारोह’ से शुरू होता रहा है। (प्रतीकात्मक फोटोः Pixabay)

कोरोना वायरस (Coronavirus) के सबसे ताजा वेरियंट ओमिक्रॉन (Omicron) को लेकर चिंताओं के बीच वित्त मंत्रालय ने इस साल के केंद्रीय आम बजट (Union Budget 2022-23) से पहले परंपरागत ‘हलवा समारोह’ को छोड़ दिया है। परपंरा बदलते हुए मंत्रालय ने इस बार संबंधित कर्मचारियों को ‘हलवा’ की जगह पर मिठाई बांटी। दरअसल, बजट बनाने और उसकी छपाई से जुड़े कर्मचारियों के घर-परिवार से अलग रहने और बजट दस्तावेज की छपाई का काम परंपरागत ‘हलवा समारोह’ से शुरू होता रहा है।

वित्त मंत्रालय के बयान के मुताबिक, बजट की गोपनीयता कायम रखने के लिए बजट दस्तावेज तैयार करने वाले अधिकारियों को दफ्तर में ही अपने परिवार से अलग रहना पड़ता है। छपाई से जुड़े कर्मचारियों को भी नॉर्थ ब्लॉक (North Block) के ‘बेसमेंट’ में प्रिंटिंग प्रेस में अंदर कम से कम कुछ सप्ताह के लिए आइसोलेट रहना पड़ता था। वित्त मंत्री की ओर से संसद में बजट पेश किए जाने के बाद ये कर्मी-अधिकारी अपने घर वालों से संपर्क कर पाते हैं।

बयान में यह भी कहा गया, “केंद्रीय बजट बनाने की प्रक्रिया के आखिरी चरण को चिह्नित करने के लिए हर साल एक प्रथा के तौर पर हलवा समारोह हुआ करता था। पर इस बार मौजूदा कोरोना वायरस महामारी के हालात और निरीक्षण की जरूरत देखते हुए कार्यस्थलों पर रहने वाले कोर कर्मचारियों को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत मिठाई बांटी गई।”

अरुण जेटली जब वित्त मंत्री थे, तब वह और उनकी टीम बजट (Budget) से पहले होने वाली सालाना हलवा सेरेमनी (Halwa Ceremony) में हिस्सा लेते हुए। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः ताशी तोबग्याल)

मंत्रालय की तरफ से बताया गया कि एक फरवरी, 2022 को संसद में बजट पेश करने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद केंद्रीय बजट 2022-23 मोबाइल ऐप पर भी उपलब्ध होगा। कहा गया, “यह मोबाइल ऐप निर्धारित बजट भाषण (Budget Speech), वार्षिक वित्तीय विवरण (Annual Financial Statement aka Budget), अनुदान की मांग (Demand for Grants : DG) और वित्त विधेयक (Finance Bill) आदि सहित 14 केंद्रीय बजट दस्तावेजों तक एक्सेस की अनुमति देता है।

मोबाइल ऐप दो भाषाओं (अंग्रेजी और हिंदी) में है और इसे एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म यूजर्स इस्तेमाल कर सकते हैं।” इस ऐप को केंद्रीय बजट वेब पोर्टल (www.indiabudget.gov.in) से भी डाउनलोड किया जा सकता है। साथ ही बताया गया कि बजट दस्तावेज को पोर्टल से आम लोग डाउनलोड कर सकेंगे।

आपको बता दें कि केंद्रीय आम बजट 2022-23 (Union Budget 2022) एक फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद भवन में पेश करेंगी। यह उनका चौथा बजट होगा। इस बार भी बजट कागजरहित (पेपरलेस) होगा।

केंद्रीय बजट 2021-22 पहली बार पेपरलेस रूप में दिया गया था। संसद सदस्यों (MPs) और आम लोगों की ओर से बजट दस्तावेजों की परेशानी मुक्त पहुंच के लिए एक ‘केंद्रीय बजट मोबाइल ऐप’ (Union Budget Mobile App) भी लॉन्च किया गया था।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.