ताज़ा खबर
 

Union Budget 2019: पीयूष गोयल ने पेश किया मोदी सरकार का आखिरी बजट, टिकी रही सबकी निगाहें

Union Budget 2019: मोदी सरकार की ओर से 1 फरवरी को मौजूदा कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया जाएगा। अरुण जेटली का अमेरिका के एक निजी अस्‍पताल में सर्जरी हुई है। डॉक्‍टरों ने उन्‍हें दो हफ्तों तक आराम करने की सलाह दी है। ऐसे में रेल मंत्री पीयूष गोयल को वित्‍त मंत्रालय का अतिरिक्‍त प्रभार दिया गया है।

Author नई दिल्‍ली | Updated: February 1, 2019 2:53 PM
अरुण जेटली के बीमार होने के कारण रेल मंत्री पीयूष गोयल को वित्‍त मंत्रालय का अतिरिक्‍त प्रभार दिया गया है। (फाइल फोटो)

Union Budget 2019: मोदी सरकार के पहले कार्यकाल का आखिरी बजट 1 फरवरी को पेश कर दिया गया है। उन्होंने अंतरिम बजट पेश करते हुए कहा कि हमारी सरकार ने महंगाई पर भी लगाम लगाई है। पहले आम बजट और रेल बजट अलग-अलग पेश किया जाता था। लेकिन, सितंबर 2016 में मोदी सरकार ने 92 साल से चली आ रही इस परंपरा को तोड़ दी थी। सरकार ने वर्ष 2017 में आम बजट और रेल बजट एक साथ पेश किया था। अरुण जेटली संयुक्‍त बजट (आम बजट और रेल बजट) पेश करने वाले पहले वित्‍त मंत्री बने थे। हालांकि, इस बार नियमित वित्‍त मंत्री अरुण जेटली बजट पेश नहीं कर सकेंगे। जेटली की अमेरिका के एक निजी अस्‍पताल में सर्जरी हुई है, जिसके बाद डॉक्‍टरों ने उन्‍हें दो हफ्ते के आराम की सलाह दी है। ऐसे में रेल और कोयला मंत्री पीयूष गोयल को वित्‍त मंत्रालय का अतिरिक्‍त प्रभार दिया गया है, ताकि बजट की तैयारियां प्रभावित न हों। लिहाजा, मोदी सरकार का आखिरी बजट अरुण जेटली नहीं, बल्कि पीयूष गोयल ने पेश किया।

वित्‍त मंत्री को निभानी पड़ती हैं कई औपचारिकताएं: बजट से पहले कई तरह की औपचारिकताएं होती हैं, जिन्‍हें वित्‍त मंत्री पूरा करते हैं। परंपरा के अनुसार, हलवा बनाने के साथ बजट से जुड़ी प्रक्रियाओं का आगाज होता है। वित्‍त मंत्रालय के विभिन्‍न विभाग बजट पेश करने की तैयारियों में जुट जाते हैं। इसके बाद विभिन्‍न सेक्‍टर के प्रतिनिधियों का शिष्‍टमंडल वित्‍त मंत्री से मुलाकात कर उन्‍हें बजट से अपनी अपेक्षाओं से अवगत कराते हैं। इसमें उद्योग जगत से लेक‍र कृषि क्षेत्र के लोग शामिल होते हैं।

Budget 2019 India LIVE Updates

बजट पर रहती हैं सभी की निगाहें: आम बजट पर देश भर की निगाहें टिकी रहती हैं। दरअसल, बजट में विभिन्‍न वस्‍तुओं की कीमतों के अलावा कर ढांचे में भी परिवर्तन किया जाता है। लिहाजा, बजट प्रावधानों का सीधा असर आमलोगों की जेब पर पड़ता है। पिछले दो वित्‍त वर्षों से आम बजट और रेल बजट एक साथ पेश किए जा रहे हैं। ऐसे में रेल किराये में कमी या वृद्धि को लेकर भी लोगों में उत्‍सुकता रहती है। बजट में विभिन्‍न मार्गों पर नए ट्रेन चलाने या पूर्व से संचालित ट्रेन्‍स के समय और ठहराव में बदलाव की भी घोषणा की जाती है।

Budget 2019 India LIVE Updates

बजट 2019 से जुड़ी सभी प्रमुख खबरें पढ़ें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Interim Budget 2019 Income Tax Slab Updates: किसानों को तीन किस्‍तों में सीधे खाते में पैसा, इनकम टैक्‍स की सीमा हुई 5 लाख
2 Budget 2019 Indian Budget History: आजाद भारत का पहला बजट कब पेश हुआ, जानिए
3 RBI गवर्नर रहते उर्जित पटेल ने जिससे किया इन्कार, शक्तिकांत दास ने सरकार की उस मांग पर किया अमल