ताज़ा खबर
 

अक्टूबर में घटने की बजाय और बढ़ गई बेरोजगारी, लॉकडाउन की पाबंदियां हटने के बाद भी बढ़ रहा संकट

भारत में बेरोजगारी की दर अक्टूबर महीने में सितंबर के मुकाबले बढ़ते हुए 6.98 पर्सेंट के लेवल पर पहुंच गई है। सितंबर महीने में देश में बेरोजगारी की दर 6.67 पर्सेंट ही थी, जिसमें अब 0.31 पर्सेंट का इजाफा दर्ज किया गया है।

unemployment in indiaभारत में अक्टूबर में और बढ़ी बेरोजगारी की दर

भारत में बेरोजगारी की दर अक्टूबर महीने में सितंबर के मुकाबले बढ़ते हुए 6.98 पर्सेंट के लेवल पर पहुंच गई है। सितंबर महीने में देश में बेरोजगारी की दर 6.67 पर्सेंट ही थी, जिसमें अब 0.31 पर्सेंट का इजाफा दर्ज किया गया है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी की ओर से जारी किए गए आंकड़ों में यह बात सामने आई है। भारत में कोरोना संकट के चलते अब तक देश में 82 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। इसके चलते देश की अर्थव्यवस्था पर भी बड़ा असर देखने को मिला है।

खासतौर पर मार्च से लेकर मई तक लागू किए कड़े लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है। हालांकि बीते कुछ महीनों में कोरोना से निपटने के लिए लागू नियमों में ढील दी गई है, लेकिन अब भी आर्थिक रिकवरी काफी धीमी है। बता दें कि जून में समाप्त हुई तिमाही में भारत की आर्थिक ग्रोथ माइनस में चली गई थी। जून तिमाही में -23.9 पर्सेंट आर्थिक ग्रोथ के नतीजे का बाद वर्ल्ड बैंक, आईएमएफ समेत तमाम वैश्विक संस्थाओं ने पूरे वित्त वर्ष में आर्थिक ग्रोथ के अनुमान को घटा दिया है।

ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें तो ऐग्रिकल्चर सेक्टर में सुधार दिखने के बाद भी बेरोजगारी की दर में इजाफा हुआ है। एक फीसदी के इजाफे साथ ग्रामीण भारत में बेरोजगारी की दर 6.90 फीसदी हो गई है। इसके अलावा शहरी क्षेत्रों की बात की जाए तो अक्टूबर महीने में बेरोजगारी की दर कम हुई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक अक्टूबर में शहरी क्षेत्र में बेरोजगारी दर 7.15 फीसदी रही है, जबकि सितंबर महीने में यह 8.45% था। हालांकि यह दिलचस्प बात है कि बेरोजगारी की दर में इजाफा होने के बाद भी बीते साल के मुकाबले जीएसटी कलेक्शन 10 फीसदी बढ़ा है। आंकड़ों के मुताबिक सरकार को अक्टूबर महीने में 1.05 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी हासिल हुआ है।

इस वित्त वर्ष में यह पहला मौका है, जब जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा है और ग्रोथ डबल डिजिट में रही है। इससे पहले साल के शुरुआती महीनों में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते बड़ी गिरावट देखने को मिली थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चंद घंटों में मुकेश अंबानी के डूब गए 37,200 करोड़ रुपये, जानें- क्यों अचानक आई इतनी बड़ी गिरावट
2 ICICI ने कमाया धुआंधार मुनाफा, रच दिया इतिहास, जानिए बैंक की पूरी सक्सेस स्टोरी
3 सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल के मुनाफे में हुआ 13 गुना का इजाफा, जानें- कैसे मिली इतनी ग्रोथ
यह पढ़ा क्या?
X