ताज़ा खबर
 

घर बैठे खरीदिए बंगाल की पारंपरिक मिठाइयां

अगर आपको सदियों पुरानी बंगाल की पारंपरिक मिठाई बहुत पसंद है और विदेश में रहने या देश के लिए विभिन्न हिस्सों में रहने की वजह से आप इनका लुत्फ नहीं उठा पाते हैं..

Author कोलकाता | December 10, 2015 20:03 pm
बंगाली रसोगुल्ला।

अगर आपको सदियों पुरानी बंगाल की पारंपरिक मिठाई बहुत पसंद है और विदेश में रहने या देश के लिए विभिन्न हिस्सों में रहने की वजह से आप इनका लुत्फ नहीं उठा पाते हैं तो अब आप माउज के एक क्लिक से बंगाली मिठाइयों का घर बैठे नौश्त फरमा सकते हैं। ‘डब्ल्यूडब्ल्यू.एएमएडीईआरआरएनजीएएमएटीआई’ नाम का एक नया वेब पोर्टल शहर में आया है जो यह वायदा करता है कि वह न सिर्फ कोलकाता में बल्कि दुनिया के विभिन्न हिस्सों में भी पारपंरिक बंगाली मिठाई भेजेगा।

पोर्टल बंगाली हस्तशिल्प के विभिन्न उत्पाद भी बेचेगा जिनकी भारत और विदेश में खासी मांग है। पोर्टल के मालिक का कहना है कि वह फिलहाल कम से कम 15 पारंपरिक मिठाइयों से शुरुआत कर रहे हैं और आने वाले वर्षों में इसकी फेहरिस्त में इजाफा करने की उनकी योजना है।

वेबसाइट के संचालन के निर्देशक जी बगची ने कहा, ‘‘हमारी योजना 15 मिठाइयों के साथ शुरू करने की है जिनमें मनोहरा, पटिशप्ता, सरपुरिआ, रक्षकडम्बो, नालेन गुर, मिहिदाना, सीताभोग और लियांच शामिल हैं। बाद में, हमारी योजना मिठाइयों की संख्या में बढ़ोतरी करने की है। हमने इन मिठाइयों को इसलिए चुना है क्योंकि ये बंगाल के विभिन्न जिलों की खासियत हैं।

कंपनी के अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारी मिठाइयों की कीमत 200 रुपये प्रति किलो से 900 प्रतिकिलो होगी। अगर आप दुबई या सिंगापुर से ऑर्डर देते हैं तो हम इन्हें डीएचएल सेवा के जरिए आपको भेजेंगे। लेकिन हम ऐसी मिठाइयां नहीं भेज सकेंगे जो रसीली हों। हम सूखी मिठाइयां भेज सकेंगे जिनको लंबे वक्त तक रखा जा सके, जैसे, मनोहरा, सरपुरिआ, रक्षकडम्बो, नालेन गुर संदेश और कंचागोल्ला आदि। हम ऑनलाइन शॉपिंग सेवा की तरह काम करेंगे।’’

राज्य के पर्यटन मंत्री बी बासु ने इस कदम का स्वागत करते हुए कहा कि इस शुरुआत से वैश्विक क्षेत्र में बंगाल की पारंपरिक मिठाइयों और हस्तशिल्प उत्पाद को बढ़ावा मिलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App