ताज़ा खबर
 

‘ट्रेड वॉर से चीन को अरबों डॉलर का नुकसान, 30 लाख की नौकरियां भी गईं’

ट्रम्प ने सोमवार को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने खरबों डॉलर कमाए हैं और चीन ने कई खरबों डॉलर खो दिए। इसके साथ ही चीन ने तीस लाख नौकरियां भी गवां दी, इसमें ऐसी कंपनियों का भी योगदान है जिन्होंने चीन छोड़ दिया और अपना निवेश दूसरी जगह ले गये।’’

Author वाशिंगटन | Updated: September 10, 2019 1:13 PM
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दावा किया है कि उनके प्रशासन द्वारा चीन से आयात होने वाले सामान पर लगाए गए शुल्क के कारण चीन को खरबों डॉलर और तीस लाख नौकरियों का नुकसान हुआ है। ट्रम्प ने जोर देकर कहा कि चीन के खिलाफ अमेरिका बहुत अच्छा कर रहा है। उन्होंने कहा कि चीन ‘‘व्यापार समझौता करने को लेकर काफी आतुर है वह किसी भी तरह समझौता करना चाहता है।’’ दुनिया की इन दो शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं के बीच पिछले साल से व्यापक स्तर पर व्यापार युद्ध चल रहा है, इस युद्ध के चलते दोनों पक्षों की ओर से एक-दूसरे पर अरबों डॉलर के सामान पर जवाबी शुल्क लगाया गया। पिछले 10 महीनों से दोनों देश व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं, लेकिन इसमें अब तक कोई सफलता हाथ नहीं लग सकी है।

ट्रम्प ने सोमवार को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने खरबों डॉलर कमाए हैं और चीन ने कई खरबों डॉलर खो दिए। इसके साथ ही चीन ने तीस लाख नौकरियां भी गवां दी, इसमें ऐसी कंपनियों का भी योगदान है जिन्होंने चीन छोड़ दिया और अपना निवेश दूसरी जगह ले गये।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रौद्योगिकी की चोरी को रोकना होगा। जोर जबर्दस्ती कर प्रौद्योगिकी को हासिल करने को हमें रोकना होगा। यदि आप चीन में प्रौद्योगिकी चोरी के मामले को देखेंगे … तो हमारा देश काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है।’’

राष्ट्रपति ने मंदी की आशंकाओं को लेकर आ रही रिपोर्टों को ‘‘फर्जी खबर’’ बताते हुए विश्वास व्यक्त किया कि शेयर बाजार एक नई ऊंचाई को छूएगा। ट्रम्प ने कहा, ‘‘आप जानते हैं कि एक अवसर आने वाला है। मैं इसके बारे में बात नहीं करना चाहता, लेकिन बहुत कम समय में, हम एक नये रिकॉर्ड पर पहुंचेंगे।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भारत के विदेशी मुद्रा भंडार से कई गुना ज्यादा हैं बाहरी देनदारियां! RBI ने भांपा खतरा, उठाया यह कदम
2 कई बैंकों ने दी सस्ते लोन की सौगात, SBI और PNB ने भी की यह तैयारी
3 त्योहारों से पहले SBI का लोगों को तोहफा, 5वीं बार घटाई कर्ज की ब्याज दरें