ताज़ा खबर
 

बीआइएस की रिपोर्ट ने बताया- चीन की अपेक्षा भारत में कम है बैंकिंग का दबाव

बैंकिंग दबाव जोखिम के मामले में भारत की स्थिति पड़ोसी देशों चीन और ब्राजील से बेहतर है।

Author बासेल/नई दिल्ली | Published on: August 22, 2016 2:53 AM
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत में नोटों के मुद्रण और वितरण के लिए जिम्मेदार है।

बैंकिंग दबाव जोखिम के मामले में भारत की स्थिति पड़ोसी देशों चीन और ब्राजील से बेहतर है। बैंक फॉर इंटरनेशनल सेटलमेंट्स (बीआइएस) की एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है। रिपोर्ट में इस बात को लेकर चिंता जताई गई है कि ऊंचे कारपोरेट कर्ज की वजह से कुछ उभरती अर्थव्यवस्थाआें के ओवर हीटिंग यानी आर्थिक गतिविधियों में सामान्य से बहुत अधिक तेज होने और उत्पादन क्षमता पर भारी दबाव पड़ने की स्थिति बन गई है। ये निष्कर्ष जी-20 अंतरराष्ट्रीय वित्तीय ढांचा कार्यसमूह को सौंपी गई रिपोर्ट का हिस्सा हैं।

यह रपट ऐसे समय आई है जबकि भारत में बैंकिंग प्रणाली में बढ़ते डूबे कर्ज को लेकर चिंता जताई जा रही है। भारत भी जी-20 समूह का महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। रिपोर्ट के अनुसार कुछ संकेतकों के आधार पर बीआइएस का मानना है कि कई उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाआें में बैंकिंग दबाव का जोखिम बढ़ रहा है। विशेष रूप से ब्राजील, चीन व तुर्की जैसे देशों के लिए यह स्थिति है जहां कर्ज- सकल घरेलू अनुपात सामान्य रुझानों की तुलना में 10 फीसद या उससे अधिक ऊंचा गया है। हर तीन में से दो वित्तीय संकट उस समय उत्पन्न हुए जब उसके पहले के तीन साल तक जीडीपी की तुलना में कर्ज के अनुपात का अंतर बढ़ गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उर्जित पटेल की नियुक्ति का स्वागत करेगा बाजार : विशेषज्ञ
2 मॉडल जीएसटी पर राज्यों के वित्त मंत्री व उद्योग मंडल करेंगे चर्चा
3 ऑनलाइन कंपनियों को ई-कामर्स दिशानिर्देशों के पालन की हिदायत