scorecardresearch

तेलंगाना, बंगाल, महाराष्ट्र के बाद Tesla के ऐलन मस्क को पंजाब से सिद्धू का न्यौता, बोले- लुधियाना EV का हब बनेगा

वैसे, इंडस्ट्री से जुड़े जानकारों की मानें तो भारत में मस्क के लिए कारोबार करता इतना भी आसान नहीं होगा।

elon musk, tesla, india
Tesla के ऐलन मस्क का कहना है कि भारत में उनकी कंपनी की कारों को लग्जरी के बजाय Electric Vehicle माना जाए। (फाइल फोटोः एजेंसी)

अमेरिकी मूल की इलेक्ट्रिक व्हीकल और क्लीन एनर्जी कंपनी टेस्ला (Tesla Inc.) को भारत के सूबों से ऑफरों की झड़ी लगी है। तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र के बाद कंपनी के सीईओ ऐलन मस्क को पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू ने न्यौता दिया है। उन्होंने कहा है कि पंजाब मॉडल लुधियाना शहर को इलेक्ट्रिक व्हीकल और बैट्री उद्योग का हब बनाएगा।

सिद्धू की यह टिप्पणी मस्क के 16 जनवरी के उस ट्वीट के जवाब में आई थी, जिसमें उन्होंने एक यूजर को बताया था कि वह और उनकी कंपनी मौजूदा समय में भारत सरकार के साथ ढेर सारी चुनौतियों को लेकर विचार-विमर्श के दौर से गुजर रहे हैं।

पंजाब कांग्रेस चीफ ने इसी पर ट्वीट करते हुए कहा- मैं मस्क को आमंत्रित करता हूं। पंजाब मॉडल लुधियाना को इलेक्ट्रिक वाहनों और बैट्री उद्योग के लिए हब के रूप में बनाएगा, जिसमें निवेश के लिए समयबद्ध सिंगल विंडो क्लियरेंस होगा जो पंजाब में नई तकनीक लाएगा, हरित रोजगार पैदा करेगा, पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास का रास्ता प्रशस्त करेगा।

टेस्ला की मदद कर खुशी होगी’: इससे पहले, तेलंगाना के उद्योग मंत्री केटी रामा राव ने मस्क से राज्य में कंपनी की एक इकाई स्थापित करने की अपील की थी। शुक्रवार को एक ट्वीट के जरिए वह बोले थे, ‘एलन, मैं भारत के तेलंगाना राज्य का उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री हूं। मुझे भारत/तेलंगाना में इकाई स्थापित करने में आने वाली चुनौतियों से निपटने में टेस्ला की मदद करके खुशी होगी। हमारा राज्य भारत के शीर्ष व्यापार केंद्रों में से एक है। यह इस तरह की पहल को आगे बढ़ाने में माहिर है।’

बंगाल के मंत्री ने किया आमंत्रित, BJP ने बनाया मजाकः इस बीच, बंगाल के अल्पसंख्यक विकास एवं मदरसा शिक्षा मंत्री मोहम्मद गुलाम रब्बानी ने मस्क को राज्य में कारोबार करने के लिये रविवार को आमंत्रित किया। रब्बानी बोले, ”यहां काम करें, पश्चिम बंगाल में हमारे पास सबसे अच्छी सुविधाएं हैं और हमारी नेता ममता बनर्जी के पास दूरदर्शिता है।” हालांकि, भाजपा ने मंत्री के प्रस्ताव को हास्यास्पद बताया। बीजेपी आईटी सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने उन्हें राज्य के पिछले रिकॉर्ड को याद करने को कहा।

पाटिल ने महाराष्ट्र में इकाई स्थापित करने को बुलायाः उधर, महाराष्ट्र के मंत्री जयंत पाटिल ने रविवार को मस्क को राज्य में उत्पादन इकाई स्थापित करने के लिए आमंत्रित करते हुए उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। मस्क के ट्वीट पर पाटिल ने लिखा, ”महाराष्ट्र भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है। हम आपको भारत में काम करने के लिये महाराष्ट्र की ओर से सभी आवश्यक सहायता प्रदान करेंगे। हम आपको महाराष्ट्र में अपना विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए आमंत्रित करते हैं।”

दरअसल, टेस्ला ने पिछले साल भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों पर आयात शुल्क में कटौती की मांग की थी। भारी उद्योग मंत्रालय ने टेस्ला से कहा था कि वह पहले भारत में अपने इलेक्ट्रिक वाहनों का विनिर्माण शुरू करे, उसके बाद ही किसी कर छूट के बारे में विचार किया जा सकता है। (पीटीआई-भाषा इनपुट्स के साथ)

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट