scorecardresearch

भारत में एंट्री के बीच एलन मस्क की लंबी छलांग, मुकेश अंबानी को एक साथ 2 खुशखबरी

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, भारत में टेस्ला 8 जनवरी को रजिस्टर्ड हुई है। कंपनी के भारत में वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन निदेशक हैं।

भारत में एंट्री के बीच एलन मस्क की लंबी छलांग, मुकेश अंबानी को एक साथ 2 खुशखबरी
मुकेश अंबानी और एलन मस्क (Photo-indian express )

इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली अमेरिकी कंपनी ‘टेस्ला’ की भारत में एंट्री हो गई है। ये एंट्री ऐसे समय में हुई है जब हाल ही में टेस्ला के सीईओ एलन मस्क दुनिया के सबसे दौलतमंद शख्स बने हैं। इस बीच, भारत के सबसे अमीर कारोबारी रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुकेश अंबानी को भी एक साथ दो खुशखबरी मिली है।

टेस्ला की भारत में एंट्री: जानकारी के मुताबिक टेस्ला ने पहला ऑफिस बेंगलुरु में रजिस्टर्ड कराया है। ये रजिस्ट्रेशन टेस्ला मोटर इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड नाम से है। कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, टेस्ला 8 जनवरी को रजिस्टर्ड हुई है। कंपनी के भारत में वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन निदेशक हैं। तनेजा टेस्ला में CFO हैं, जबकि फेंस्टीन टेस्ला में ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर, ट्रेड मार्केट एक्सेस हैं।

एलन मस्क की संपत्ति में लंबी छलांग: इस खबर के बीच टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने संपत्ति के मामले में एक बार फिर लंबी छलांग लगाई है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक एलन मस्क की कुल संपत्ति करीब 9 बिलियन डॉलर बढ़कर एक बार फिर 200 बिलियन डॉलर के पार पहुंच गई है। वहीं, अमेजन के जेफ बेजोस की दौलत अब भी 183 बिलियन डॉलर के करीब है।

मुकेश अंबानी की रैंकिंग सुधरी: ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की संपत्ति और रैंकिंग में भी सुधार देखने को मिली है। वह एक बार फिर से करीब 76 बिलियन डॉलर दौलत के साथ अमीरों की सूची में 12वें पायदान पर आ गए हैं। इस बीच, हारून ग्लोबल 500 रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में 500 सर्वाधिक मूल्यवान कंपनियों की सूची में भारत की निजी क्षेत्र की 11 कंपनियों ने जगह बनाई है।

इसमें भी मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज टॉप पर है। कंपनी वैश्विक सूची में 54वें स्थान पर है। वहीं, दूसरी भारतीय कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) है, जो वैश्विक स्तर पर 73वें पायदान पर है।

इन 11 कंपनियों का कुल मूल्य पिछले साल 14 प्रतिशत बढ़ा और इनका मूल्यांकन 805 अरब डॉलर या भारत के जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) का करीब एक तिहाई आंका गया है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.