ताज़ा खबर
 

Term Insurance: टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदने की है प्लानिंग, ना करें ये 10 गलतियां

कभी-कभी टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदते समय कुछ गलतियां होने की आशंका रहती है, जिससे योजना के अपेक्षित उपयोग पर असर पड़ सकता है।

Author नई दिल्ली | Updated: April 20, 2021 6:10 PM
Term insurance plan,Term insurance, Term insurance newsटर्म इंश्योरेंस खरीदने से अधिकतर चिंताएं खत्म हो जाती हैं। (Photo-Indian Express )

जब आप टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदने का फैसला कर लेते हैं तो आपकी अधिकतर चिंताएं खत्म हो जाती हैं। टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदने के बाद बच्चों की शिक्षा, घर खरीदने जैसे लक्ष्य भी अधूरे नहीं रहते हैं।

टर्म इंश्योरेंस प्लान के साथ अच्छी बात यह है कि यह बीमा का सबसे शुद्ध रूप है। सरल शब्दों में कहें तो आप जो भी प्रीमियम देते हैं, वह पूरी तरह से आपको जीवन सुरक्षा देने में ही लगता है। हालांकि, कभी-कभी टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदते समय कुछ गलतियां होने की आशंका रहती है, जिससे योजना के अपेक्षित उपयोग पर असर पड़ सकता है। ऐसे गलतियों से बचने और टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी का पूरा लाभ उठाने के लिए यहां कुछ जरूरी बातें है, जिनके बारे में आपको जानना चाहिए।

प्रीमियम की कोई तुलना नहीं होती: टर्म इंश्योरेंस प्लान में, प्रीमियम अनुपात के लिए कवर राशि बहुत अधिक होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आप छोटी प्रीमियम राशि का भुगतान करके उच्च राशि प्राप्त कर सकते हैं। अलग-अलग बीमा कंपनियों के प्रीमियम भी अलग-अलग होते हैं। इसलिए इसको खरीदने के बारे में निर्णय लेने से पहले कुछ बीमा कंपनियों के टर्म इंश्योरेंस प्रीमियम की तुलना जरूर कर लेनी चाहिए। दूसरी ओर कोई भी सबसे कम प्रीमियम प्लान तब तक सबसे अच्छा विकल्प नहीं हो सकता है, जब तक कि यह अधिक और बड़ा कवरेज प्रदान न करे।

कम जीवन कवर राशि प्राप्त करना: कई लोग बिना अपनी जरूरत का आकलन किए ही जीवन बीमा पॉलिसी खरीद लेते हैं। ऐसा टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदना, जिसका कवरेज कम हो, उस उद्देश्य को पूरा नहीं कर सकता है, जिसके लिए इसे खरीदा गया है। आदर्श स्थिति तो यह होगी कि आप अपनी सालाना इनकम के 15 से 20 गुना के बीच कवरेज रखें। आपकी उम्र, वित्तीय देनदारियों या दायित्व और पारिवारिक हालात के मद्देनजर आपको ऊंची रकम की जरूरत हो सकती है। इसलिए पॉलिसी खरीदने से पहले आवश्यक जीवन कवर की मात्रा की सही गणना करने की सिफारिश की जाती है।

कम कार्यकाल के लिए खरीदना: लाइफ इंश्योरेंस का उद्देश्य अपने जीवन के लक्ष्यों को पूरा करना है। आपकी उम्र अभी चाहे जितनी हो, लेकिन 60 वर्ष की उम्र होने तक कम से कम एक टर्म इंश्योरेंस प्लान जरूर खरीदें। जीवन की जिम्मेदारियां जैसे बच्चों की शिक्षा, घर को खरीदना आदि आमतौर पर इसी दौरान आती हैं।

हालांकि, अपना काम देर से शुरुआत करने वालों या 60 साल की उम्र के बाद भी जिनके पास वित्तीय देनदारियां होती हों, उन्हें लंबी अवधि के लिए भी बीमा योजना लेने पर विचार करना पड़ सकता है।

एक बार आपकी देनदारियां पूरी हो जाएं तो आप प्रीमियम का भुगतान करना बंद कर सकते हैं, क्योंकि इसकी कोई परिपक्वता मूल्य या मैच्योरिटी वैल्यु नहीं होती है। आजकल आपको 85 वर्ष और उससे भी अधिक की उम्र वाला तक कवर प्लान हैं।

पॉलिसी लेने में देर करना : आप युवा और अविवाहित हैं, तो हो सकता है कि बीमा पॉलिसी लेना आपके कार्यों की लिस्ट में न हो। मेरी सलाह है कि फिर से विचार कर लें! हो सकता है कि आपके माता-पिता आर्थिक रूप से आप पर निर्भर हों, या कुछ वर्षों में आपकी शादी होने वाली हो, अगर कम उम्र में आप ऐसी पॉलिसी खरीदते हैं तो इसका प्रीमियम उससे काफी कम होगा, जो आप अधिक उम्र हो जाने पर पॉलिसी खरीदने पर भुगतान करेंगे। एक बार कम उम्र में पॉलिसी खरीद लेने पर आप 25-30 साल तक उसी प्रीमियम का भुगतान करते रहेंगे।

बीमाकर्ता द्वारा ‘लोडिंग’ स्वीकार नहीं करना: टर्म इंश्योरेंस प्लान में प्रीमियम आपकी उम्र, बीमित राशि और अवधि पर निर्भर करता है। अगर कोई प्रतिकूल चिकित्सकीय स्थिति यानी मेडिकल कंडीशन नहीं हो तो अधिकतर खरीदारों पर यह पूरी तरह लागू होता है। बीमाकर्ता कुछ खरीदारों का मेडिकल परीक्षण कराते हैं, उनके बॉडी-मास इंडेक्स की जांच करते हैं और यहां तक ​​कि परिवार के मेडिकल इतिहास भी पता करते हैं। (ये पढ़ें-कोरोना काल में बढ़ी हेल्थ इंश्योरेंस की अहमियत, मिलते हैं कई फायदे)

मौजूदा चिकित्सा हालातों या बीमारी वाली जीवन शैली के मामले में बीमाकर्ता आधार प्रीमियम को ‘लोड’ करके अतिरिक्त प्रीमियम की मांग करते हैं। यह एक महत्वपूर्ण सहमति लेने वाला दौर होता है। किसी को लोडिंग पर सहमति देने से पहले अच्छी तरह विचार कर लेना चाहिए। बिना बीमा के रहने के बजाए बीमा कराया जाना ज्यादा महत्वपूर्ण है।

राइडर्स को जोड़ना: प्राकृतिक वजहों से असामयिक मृत्यु के जोखिम के अलावा अन्य मोर्चों पर भी जोखिम हैं। दिव्यांगता की वजह से आपकी आय कम हो सकती है। अचानक कोई बीमारी या अन्य मेडिकल इमरजेंसी से भी बचत पर असर पड़ता है। टर्म इंश्योरेंस प्लान में आपको वैकल्पिक जरूरतों के लिए राइडर की सुविधा मिलती है, जैसे कि इमरजेंसी राइडर, दिव्यांगता राइडर, गंभीर बीमारी राइडर इत्यादि। ऐसे राइडर्स को अपने आधार टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी में शामिल करना लाभ को बढ़ाता है और चौतरफा सुरक्षा प्रदान करता है।

विविधताओं का विकल्प: प्लेन वेनिला टर्म इंश्योरेंस प्लान में पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु लाभ बराबर रहता है। हालांकि, कुछ दूसरी योजनाएं हैं, जो बढ़ते कवर या घटते कवरेज के साथ आती हैं। कुछ योजनाओं में, परिवार के लिए बीमित राशि का एक हिस्सा एकमुश्त रूप में पाने और नियमित किश्तों में शेष राशि का पाने का विकल्प होता है। यहां तक कि आपके पास लंबी अवधि के लिए कवर जारी रखते हुए 60 वर्ष की आयु तक भुगतान करने का विकल्प भी रहेगा।

अपने फॉर्म स्वयं भरना चाहिए: आम तौर पर लोग बीमा एजेंट से फॉर्म भरवाते हैं। यह एक बड़ी गलती है, जिसे अधिकतर लोग करते हैं। आवेदन पत्र को पूरा पढ़ने से लोगों को बीमा कंपनियों की शर्तों और नियमों की जानकारी मिलती है। इससे आपको उन वादों की भी जानकारी मिलती है, जो बीमा कंपनियां करती हैं और आपके बारे में वे जानकारियां रखती हैं, वे भी आपको पता होते हैं। यह आपके जीवन का बीमा है, इसलिए स्वामित्व की भावना तभी आती है, जब आप फॉर्म स्वयं भरते हैं। यह बहुत महत्वपूर्ण है।

अपनी जानकारियों का खुलासा: कई महत्वपूर्ण जानकारियां ऐसी हैं जिसे बीमा कंपनियां चाहती हैं कि आप अपने फॉर्म पर खुलासा करें। ऐसे खुलासे आपके परिवार, आय और चिकित्सा स्थिति से संबंधित होते हैं। यह जरूरी है कि आप आवेदन करते समय पूरी जानकारी दें। किसी भी जानकारी को छिपाने से आपके दावे पर असर पड़ता है। इससे फिर आपका वह उद्देश्य पूरा नहीं होगा, जिसके लिए आपने बीमा योजना खरीदी है।

अपने कैंडिडेट्स को सूचित नहीं करना: आप यह चाहते हैं कि बीमा का लाभ आपकी पत्नी और बच्चों को मिले, तो आप विवाहित महिला संपत्ति अधिनियम के तहत भी पॉलिसी को जोड़ सकते हैं। इसके अलावा अगर अपने परिवार के सदस्यों के लाभ के लिए टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद रहे हैं, आपके लिए यह जरूरी है कि उनको भी पूरी जानकारी दे दें। (ये पढ़ें-मेडिक्लेम का विकल्प नहीं कोरोना स्वास्थ्य बीमा, दोनों में हैं ये बड़े अंतर)

साथ ही पॉलिसी के सभी दस्तावेजों और प्रीमियम भुगतान रसीदों की एक कॉपी उनको भी दे दें। आप हेल्थ कवर खरीदना चाहते हैं, तो बेहतर हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें और सबसे अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लें।

यह लेख मूल रूप से यहां पोस्ट किया गया था.

Next Stories
1 7th Pay Commission: कोरोना काल में बदल चुके हैं 3 नियम, इन कर्मचारियों को होगा फायदा
2 जब टेस्ला के सीईओ एलन मस्क को आनंद महिंद्रा ने दी थी चुनौती, जानिए पूरा मामला
3 संकट के दौर में भी मुनाफा कमा रही अनिल अंबानी की ये कंपनी, जानिए कौन लोग संभाल रहे कारोबार
ये पढ़ा क्या?
X