ताज़ा खबर
 

​टर्म इंश्योरेंस प्लान के हैं 5 वेरिएंट, जानिए इसके फीचर्स और फायदे

लॉन्ग टर्म टारगेट के लिए एक भी रुपया निवेश करने से पहले हर व्यक्ति के पास टर्म इंश्योरेंस प्लान जरूर होना चाहिए। यह उसके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण वित्तीय निर्णय होता है।

Author नई दिल्ली | Updated: February 22, 2021 8:27 PM
term insurance, term insurance plan, MICटर्म इंश्योरेंस प्लान के 5 वेरिएंट हैं (Photo-indian express )

एक टर्म इंश्योरेंस प्लान न केवल किसी के मौजूदा निवेश को सुरक्षित करने के उद्देश्य से कार्य करता है, बल्कि परिवार के सदस्यों के भविष्य के लक्ष्यों को आसानी से पूरा करने में भी मदद करता है। अगर कमाने वाले सदस्य की असामयिक या अचानक मृत्यु हो जाती है तो परिवार के लक्ष्य पटरी से नहीं उतरते हैं। क्योंकि बीमित राशि परिवार के बचे हुए सदस्यों की आर्थिक जरूरतों को पूरा करने में मदद करती है।

एक टर्म प्लान, जीवन बीमा का शुद्धतम रूप है, जो कम प्रीमियम में ज्यादा कवरेज देता है। बीमा में जो प्रीमियम आप देते हैं, वह चार कारकों पर निर्भर करता है। सम एश्योर्ड (लाइफ कवर) जिसे आप खरीदते हैं, आपकी आयु, लिंग और वर्ष (पॉलिसी अवधि) जिसके लिए आप कवर रखना चाहते हैं। पॉलिसी अवधि के भीतर मृत्यु होने पर, बीमित व्यक्ति को बीमा राशि का भुगतान कर दिया जाता है, जबकि परिपक्वता तक जीवित रहने पर बीमित व्यक्ति (पॉलिसीधारक) को कुछ भी भुगतान नहीं किया जाता है।

उदाहरण से समझें: मान लीजिए, कोई व्यक्ति 30 साल की अवधि के लिए 1.5 करोड़ रुपये की राशि के साथ एक टर्म प्लान खरीदता है। अगर पॉलिसी अवधि के दौरान किसी भी समय बीमाधारक या पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है, तो उसके नॉमिनी को 1.5 करोड़ रुपये का एकमुश्त भुगतान कर दिया जाता है। अब आप समझ गए होंगे कि एक टर्म प्लान कैसे काम करता है, और यह कितना महत्वपूर्ण है। टर्म इंश्योरेंस प्लान के विभिन्न वेरिएंट भी आपको जानना चाहिए।

समान अवधि योजना (Level Term Plan): यह टर्म इंश्योरेंस प्लान का सबसे बुनियादी संस्करण है। जैसा कि नाम से ही पता चलता है, बीमित राशि पूरे पॉलिसी अवधि के लिए समान रहती है। एक लेवल टर्म प्लान में, जब भी अवधि के दौरान बीमाधारक की मृत्यु होती है, तो मूल बीमित रकम का भुगतान एकमुश्त राशि के रूप में नामित व्यक्ति को किया जाता है। एक पॉलिसीधारक के रूप में, आप निश्चिंत रहते हैं कि पॉलिसी अवधि के दौरान किसी भी समय मृत्यु होने पर नामित व्यक्ति को पूरी राशि मिल जाएगी।

प्रीमियम वापसी का प्लान (Return of Premium Plan): जैसा कि नाम से पता चलता है, रिटर्न ऑफ प्रीमियम टर्म प्लान में पॉलिसी की अवधि के बाद जीवित रहने पर प्रीमियम राशि का भुगतान पॉलिसीधारक को वापस किया जाता है। ऐसी योजनाएं उन लोगों के लिए उपयुक्त होती हैं, जो पॉलिसी अवधि में जीवित रहकर पैसा (प्रीमियम) प्राप्त करना चाहते हैं। पॉलिसी अवधि के दौरान पॉलिसीधारक की मृत्यु के मामले में, नामित व्यक्ति को बीमा राशि का भुगतान किया जाता है, और प्रीमियम वापस नहीं किया जाता है।

कवर योजना को बढ़ाना (Increasing Cover Plan): बढ़ती हुई कवर योजना में, बीमित राशि पूर्व-निर्दिष्ट राशि पर या मुद्रास्फीति के आधार पर समय के साथ-साथ बढ़ती रहती है। इसका मतलब है कि मृत्यु के बाद मिलने वाला लाभ मूल राशि ही नहीं होती है, बल्कि बढ़ी हुई राशि होता है। यह इस पर निर्भर करता है कि मृत्यु कितने साल बाद होती है। चूंकि रुपये की क्रय शक्ति समय के साथ गिरती रहती है, इसलिए ऐसी योजनाएं लाइफ कवर के मूल्य को बनाए रखने और लक्ष्यों की लागत बढ़ती महंगाई के साथ आराम से पूरा करने में मदद करती हैं। जबकि पॉलिसी अवधि के दौरान प्रीमियम वही रहता है।

घटती कवर योजना (Decreasing Cover Plan): जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, परिवार के प्रति वित्तीय जिम्मेदारियां भी बढ़ती रहती हैं। बच्चों की शिक्षा के लिए सही वक्त पर जरूरत के मुताबिक पैसे आपके पास उपलब्ध हो, साथ ही आपके न रहने पर भी परिवार का जीवन स्तर बना रहे, इसके लिए जरूरी है कि आप पर्याप्त कवरेज ले लें। इसलिए इस अवधि के दौरान पर्याप्त कवरेज लेने का फैसला जरूर कर लें। जिससे कि आपको और आपके परिवार को जीवन में किसी भी तरह की आर्थिक कठिनाई का सामना नहीं करना पड़े।

जब और जैसे ही ये जिम्मेदारियां पूरी हो जाती हैं, कवरेज को कम करने की जरूरत पड़ने लगती है। ऐसे मामलों में घटती कवर योजना मदद करती है, क्योंकि बीमित रकम समय के साथ कम होती रहती है। इस तरह की योजनाएं होम लोन को कवर करने में भी सहायक होती हैं, जहां मूल बकाया समय के साथ कम होता रहता है।

हालांकि, यदि आप खास तौर पर इसी उद्देश्य के लिए ऐसी योजनाएं खरीद रहे हैं, तो सुनिश्चित कर लें कि आपके पास लेवल टर्म कवर प्लान के माध्यम से पर्याप्त कवरेज है।

मासिक आय कवर योजना (Monthly Income Cover Plan): टर्म प्लान में पॉलिसी अवधि में मृत्यु के मामले में नामित व्यक्ति को पॉलिसी में दी गई राशि के बराबर एकमुश्त राशि का भुगतान किया जाता है। हालांकि, इस तरह की एकमुश्त राशि को उनके जीवन निर्वाह के लिए नामांकित व्यक्ति द्वारा विवेकपूर्ण तरीके से उपयोग नहीं किया जा सकता है। ऐसी स्थिति में मासिक आय कवर योजना उसकी मदद करती है। इसमें परिवार को बीमा राशि के हिस्से से लगातार आय प्राप्त करने में मदद मिलती है।

इनमें से कुछ योजनाएं ऐसी हैं, जिसमें लाइफ कवर के एक हिस्से का भुगतान नामांकित व्यक्ति को एकमुश्त के रूप में किया जाता है, जबकि शेष राशि पर नियमित मासिक आय का भुगतान किया जाता है। कुछ योजनाएं जीवन भर की पूरी राशि पर नियमित मासिक आय देने का विकल्प प्रदान करती हैं, जबकि कुछ पूर्व-निर्धारित दर पर मासिक आय बढ़ाने की पेशकश भी करती हैं।

यह लेख मूल रूप से यहां पर छपा था..

Next Stories
1 7th Pay Commission Latest News: होली से पहले तोहफे की तैयारी, कर्मचारियों को एकमुश्त मिलेगा एरियर
2 इंश्योरेंस कंपनी के प्राइवेटाइजेशन की तैयारी में मोदी सरकार, वित्तीय स्थिति में सुधार से मिले संकेत
3 बिजनेस के लिए आइडिया है लेकिन फंड नहीं! SBI ने बताया पैसे जुटाने का तरीका
आज का राशिफल
X