ताज़ा खबर
 

TCS ने ब्रिटिश कंपनी को छोड़ा पीछे, इस मामले में बनी दुनिया की सबसे बड़ी IT फर्म

सितंबर-अगस्त वित्तीय वर्ष के बाद एक्सेंचर को जून-अगस्त की अवधि में बैंकिंग और बीमा ग्राहकों से 2.01 बिलियन डॉलर कारोबार में मिला।

फाइनेंशल सर्विस सेक्टर एक बड़ा हिस्सा है जो कि IT और कंस्लटिंग फर्म से सर्विस और सॉल्यूशन लेता है।

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) लिमिटेड ने फाइनेंशल सेक्टर में एक तिमाही में कमाई के मामले में ब्रिटिश कंपनी एक्सेंचर पीएलसी को पीछे छोड़ दिया है। एक्सेंचर टीसीएस से लगभग दोगुनी बड़ी कंपनी है। TCS दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी बन गई है जोकि बड़े बैंक और इंश्योरेंस कंपनियों को सर्विस देती है। फाइनेंशल सर्विस सेक्टर एक बड़ा हिस्सा है जो कि IT और कंस्लटिंग फर्म से सर्विस और सॉल्यूशन लेता है। जुलाई-सितंबर की अवधि के दौरान, टीसीएस को बैंकिंग, वित्तीय सेवाओं, बीमा और बीएफएसआई सेक्टर में 2.07 बिलियन डॉलर का कारोबार मिला। इसमें टीसीएस बीएएनसीएस के अपने प्लेटफार्मों से 445.9 मिलियन डॉलर का बिजनेस मिला। इसके अलावा ऐप्लीकेशन डिवेलपमेंट, मेंटेनेंस और दूसरे ट्रेडिशनल सॉल्यूशन से 1.63 बिलियन डॉलर मिले।

सितंबर-अगस्त वित्तीय वर्ष के बाद एक्सेंचर को जून-अगस्त की अवधि में बैंकिंग और बीमा ग्राहकों से 2.01 बिलियन डॉलर कारोबार में मिला। एक दूसरे तरीके से देखें तो टीसीएस के बीएफएसआई वर्टिकल, अगर एक स्वतंत्र इकाई के रूप में देखा जाए तो भारत की तीसरी सबसे बड़ी आईटी सर्विसेज फर्म एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड से भी ऊपर है, जो अप्रैल-जून तिमाही में 2.05 अरब डॉलर का बिजनेस कर पाई थी।

टीसीएस के मुख्य संचालन अधिकारी एन गणपति सुब्रमण्यम ने पिछले हफ्ते एक इंटरव्यू में कहा, “पिछली तिमाही में हम दुनिया भर में बैंकिंग और वित्तीय सेवा क्षेत्र की सेवा करने वाली नंबर एक शुद्ध-प्ले आईटी सेवा फर्म बन गए हैं। यह देखना बहुत उत्साहजनक है कि हम अच्छी तरह से कर रहे हैं, और हम उद्योग को आकार दे रहे हैं।” सितंबर तिमाही में टीसीएस ने 5.21 अरब डॉलर राजस्व में 10% की वृद्धि दर्ज की, जबकि अगस्त तिमाही में एक्सेंचर 10.1 अरब डॉलर पर था। जो पिछले साल की समान अवधि में 11% ज्यादा था। हालांकि, टीसीएस के बीएफएसआई वर्टिकल ने साल-दर-साल 9.3% बढ़ोतरी देखी जा रही है। जबकि एक्सेंचर ने नई तिमाही में लगभग 3.1% की बढ़ोतरी दर्ज की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App