ताज़ा खबर
 

टैक्स छूट, प्रोत्साहन और जीएसटी एक साथ नहीं चल सकते: तेवतिया

रीता ने कहा, ‘मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया वह प्रयास है जिससे भारतीय निर्यात की प्रतिस्पर्धा को बढ़ाया जा सके।’

Author कोलकाता | Published on: August 20, 2016 11:25 PM
वाणिज्य सचिव रीता तेवतिया। (फाइल फोटो)

वाणिज्य सचिव रीता तेवतिया ने शनिवार (20 अगस्त) को निर्यातक समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि एक बार जीएसटी आने के बाद निर्यात संवर्द्धन के लिए दी जा रही छूट या प्रोत्साहन राशि खत्म हो जाएंगी। ईईपीसी, फियो और जीजेईपीसी द्वारा आयोजित एक सत्र में तेवतिया ने कहा, ‘वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लागू होने के बाद करों में दी जाने वाली छूट या प्रोत्साहन राशि खत्म हो जाएगी। जीएसटी और छूट एक साथ नहीं हो सकते।’ उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग जीएसटी से निर्यात पर पड़ने वाले सभी संभावित प्रभावों के बारे में विभिन्न क्षेत्रों और प्रतिनिधियों से सलाह और सुझाव मांग रहा है।

रीता ने कहा कि वाणिज्य विभाग की जीएसटी कानून में कोई संलिप्तता नहीं है। इसे अंतिम रूप दिए जाने से पहले हम अपनी सिफारिशें वित्त विभाग तक पहुंचा देंगे। उन्होंने कहा कि वैश्विक मंदी के चलते अपने घरेलू उद्योगों को बचाने के लिए कई देश संरक्षणवादी नीतियां अपना रहे हैं। भारत सरकार भी देश को निर्यात की दृष्टि से प्रतिस्पर्धात्मक बनाने के प्रयास कर रही है। रीता ने कहा, ‘मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया वह प्रयास है जिससे भारतीय निर्यात की प्रतिस्पर्धा को बढ़ाया जा सके।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 स्टेट बैंक में सहयोगी बैंकों के विलय से 120 अरब डॉलर की पूंजी जुड़ेगी
2 कोल इंडिया के कर्मचारियों का दो सितंबर को देशव्यापी हड़ताल
3 खादी ने कताई करने वालों की बढ़ाई मज़दूरी
ये पढ़ा क्या?
X