ताज़ा खबर
 

टैक्स अधिकारियों ने अरुण जेटली से कहा- जीएसटी लागू करने में जल्दबाजी की तो जीडीपी में आ सकती है गिरावट

आल इंडिया एसोसिएशन आफ ग्रुप बी सेंट्रल एक्साइज गैजेटेड एक्जिक्यूटिव आफिसर्स ने दावा किया है कि नोटबंदी का असर देश की आर्थिक वृद्धि पर पड़ा है।

Author Published on: January 22, 2017 8:41 PM
वित्त मंत्री अरुण जेटली। (फाइल फोटो)

केंद्रीय राजस्व अधिकारियों के प्रमुख संगठन ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से आग्रह किया है कि वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) के कार्यान्वयन में जल्दबाजी नहीं की जाए। संगठन ने अपनी चिंताओं पर ध्यान नहीं दिए जाने पर कानूनी कदम उठाने की चेतावनी दी है। आल इंडिया एसोसिएशन आफ ग्रुप बी सेंट्रल एक्साइज गैजेटेड एक्जिक्यूटिव आफिसर्स ने इस बारे में जेटली को पत्र लिखा है। एसोसिएशन ने दावा किया है कि नोटबंदी का असर देश की आर्थिक वृद्धि पर पड़ा है।

एसोसिएशन ने जेटली की अगुवाई वाली जीएसटी परिषद द्वारा लिए गए कुछ फैसलों को ‘अवैध‘ करार दिया है और उन्हें दुरुस्त करने की मांग की है। इसके साथ ही एसोसिएशन ने मांग की है कि अंतिम फैसला करने से पहले अधिकारियों के संगठन की भी राय ली जाए। गौरतलब है कि जीएसटी परिषद की 16 जनवरी को हुई बैठक में कई फैसले किए गए थे।

एसोसिएशन ने पत्र में कहा है कि 90 प्रतिशत सेवा कर इकाइयों को राज्यों को स्थानांतरित करने के फैसले का किसी भी विधिमान्य व तार्किक आधार पर समर्थन नहीं किया जा सकता इसलिए जीएसटी परिषद द्वारा किए गए इस आशय के फैसले को वापस लिया जाए। इसने कहा है,‘नोटबंदी के कारण देश की जीडीपी की वृद्धि दर में कम से कम एक प्रतिशत गिरावट आने का अनुमान है व अगर जीएसटी के कार्यान्वयन में और देरी होती है तो देश को और आर्थिक नुकसान हो सकता है क्योंकि जीडीपी में और गिरावट आ सकती है।’

वीडियो -वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा- “GST और नोटबंदी देश की अर्थव्यवस्था को करेंगे मज़बूत”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 लोक लेखा समिति को वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने दिया लिखित जवाब- नोटबंदी से बढ़ेगा टैक्स कलेक्शन
2 अब केवल 300 रुपए से भी कर सकते हैं सोने में निवेश
3 जानिए कैसे सस्ती EMI पर खरीद सकते हैं नई कार
जस्‍ट नाउ
X