ताज़ा खबर
 

550 किलोमीटर की दूरी और 2 दिनों के अंतराल पर मोदी सरकार के प्रति बदल गया टाटा ग्रुप का नजरिया; पहले नरम, फिर गरम!

टाटा संस चेयरमैन के बयान के उलट टाटा ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस रतन टाटा ने मुंबई से 550 किलोमीटर गुजरात के गांधीनगर में मोदी सरकार की तारीफ करते नजर आए।

टाटा ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस रतन टाटा, पीएम मोदी और टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन। फोटो: Indian Express

टाटा ग्रुप ने बुधवार को भारत में बिजनेस के माहौल पर मोदी सरकार की जमकर तारीफ की। टाटा ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस रतन टाटा ने गुजरात के गांधीनगर में उन्होंने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्किल (आईआईएस) के शिलान्यास कार्यक्रम में अपने भाषण के दौरान कहा ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के पास देश के लिए एक दूरदृष्टि है। उन्होंने कई दूरदर्शी फैसले लिए हैं। मोदी सरकार पर गर्व किया जा सकता है, हमें ऐसी सरकार का समर्थन करना चाहिए।’

रतन टाटा के इस बयान के दो दिन बाद टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन गांधीनगर से करीब 550 किलोमीटर दूर मुंबई में सरकार की आलोचना करते नजर आए। उन्होंने कहा कि भारत में कारोबार करने में बहुत बाधाएं हैं क्योंकि यहां का माहौल संदेह भरा और बहुत सूक्ष्म प्रबंधन वाला है। चंद्रशेखरन ने यह बयान मुंबई में आयोजित नानी पालकीवाला स्मृति व्याख्यान में दिया था।

बहरहाल दो दिन के भीतर टाटा ग्रुप पहले तो सरकार के समर्थन में नजर आया और फिर विरोध में नजर आया। इस अंतराल में ग्रुप का नजरिया मोदी सरकार के प्रति बदलता नजर आया।

बता दें कि टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने कहा है कि लोगों को तेजी से आगे बढ़ने के लिए कहने से वृद्धि को हासिल नहीं किया जा सकता। इसके लिए संस्कृति को बदलने और बदलाव वाला दृष्टिकोण रखने की जरूरत है। गौरतलब है कि इससे पहले दिग्गज कारोबारी राहुल बजाज ने केंद्र सरकार की तीखी आलोचना की थी।

उन्होंने कहा था कि मोदी सरकार के शासनकाल में लोगों के बीच डर का माहौल है। जब यूपीए-2 की सरकार सत्ता में थी, हम किसी की भी आलोचना कर सकते थे। देश में ऐसा माहौल बनाया जाना चाहिए। आप अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद हमें विश्वास नहीं है कि यदि हम आपकी खुलेआम आलोचना करें तो आप हमें प्रोत्साहित करोगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अडाणी ग्रुप को 45000 करोड़ रुपये का पनडुब्बी बनाने का ठेका देने पर नौ सेना और रक्षा मंत्रालय में ठनी, नेवी ठुकरा चुकी है प्रस्ताव
2 7th Pay Commission: बजट 2020 से पहले पूरी होगी इन कर्मियों की आस? मोदी सरकार सरकार इन दो चीजों का कर सकती है ऐलान
ये पढ़ा क्या?
X