ताज़ा खबर
 

टाटा समूह की चार कंपनियां करेंगी साइरस मिस्त्री को हटाने के लिए वोटिंग

आईएचसीएल में टाटा संस की 28.01 प्रतिशत हिस्सेदारी है। टाटा संस ने कंपनी के निदेशक मंडल से साइरस मिस्त्री को हटाने का प्रस्ताव किया है।

Author मुंबई | December 18, 2016 5:47 PM
साइरस मिस्त्री को 24 अक्टूबर 2016 को रतन टाटा ने हटा दिया था। (Photo: PTI/File)

टाटा संस और समूह के चेयरमैन पद से हटाये गये साइरस मिस्त्री के बीच जारी ‘बोर्ड रूम वार’ में अगला सप्ताह काफी अहम हो सकता है। सप्ताह के दौरान टाटा समूह की चार सूचीबद्ध कंपनियों में साइरस मिस्त्री को निदेशक पद से हटाने के प्रस्ताव पर फैसला किया जायेगा। अगले सप्ताह निवेशकों की नजर समूह की चार कंपनियों की असाधारण आम बैठक :ईजीएम: पर होगी। इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड (आईएचसीएल), टाटा स्टील, टाटा मोटर्स और टाटा केमिकल्स की अगले सप्ताह क्रमश: 20 से 23 दिसंबर के दौरान ईजीएम होनी है जिसमें मिस्त्री को कंपनियों के निदेशक पद से हटाने के प्रस्ताव पर मतदान होगा। इसके अलावा समूह की तीन कंपनियों -टाटा स्टील, टाटा मोटर्स और टाटा केमिकल्स के शेयरधारक इन कंपनियों के निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशक नुस्ली वाडिया को भी हटाने के प्रस्ताव पर अपना फैसला करेंगे। नुस्ली वाडिया को कंपनियों के निदेशक मंडल से हटाने का प्रस्ताव टाटा संस ने किया है।

आईएचसीएल में टाटा संस की 28.01 प्रतिशत हिस्सेदारी है। टाटा संस ने कंपनी के निदेशक मंडल से साइरस मिस्त्री को हटाने का प्रस्ताव किया है। बंबई शेयर बाजार में उपलब्ध जानकारी के मुताबिक सितंबर 2016 को प्रवतकों और प्रवर्तक समूह की आईएचसीएल में कुल 38.65 प्रतिशत हिस्सेदारी है। एक गैर-प्रवर्तक शेयरधारक एलआईसी के पास 8.76 प्रतिशत हिस्सेदारी है। टीसीएस की ईजीएम में एलआईसी ने मतदान से अनुपस्थित रही। आईएचसीएल की 2015-16 की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी में मिस्त्री की खुद की 1,28,625 शेयरों की हिस्सेदारी है। टाटा स्टील में टाटा संस की 29.75 प्रतिशत हिस्सेदारी है जबकि प्रवर्तक और प्रवर्तक समूह की कुल 31.35 प्रतिशत हिस्सेदारी है। गैर-प्रवर्तक शेयरधारक जैसे एलआईसी के पास कंपनी में 13.62 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसी प्रकार टाटा मोटर्स में होल्डिंग कंपनी टाटा संस की 26.51 प्रतिशत हिस्सेदारी है जबकि प्रवर्तकों और प्रवर्तक समूह की कुल मिलाकर 33 प्रतिशत हिस्सेदारी कंपनी में है। एलआईसी की इसमें 5.11 प्रतिशत हिस्सेदारी है। मिस्त्री के पास व्यक्तिगत तौर पर टाटा मोटर्स के 14,500 शेयर हैं।

समूह की एक अन्य कंपनी टाटा केमिकल्स में टाटा संस की 19.35 प्रतिशत हिस्सेदारी है। प्रवर्तकों की कुल मिलाकर प्रवर्तक समूह सहित 30.80 प्रतिशत हिस्सेदारी कंपनी में है। एलआईसी की इसमें 3.33 प्रतिशत होल्डिंग है। मिस्त्री के पास कंपनी के 16,000 शेयर हैं। इससे अगले सप्ताह 26 दिसंबर को टाटा पावर के शेयरधारकों को भी मिस्त्री को समूह के निदेशक मंडल से बाहर करने के टाटा संस के प्रस्ताव पर अपना मत देना है। इस कंपनी में टाटा संस की 31.05 प्रतिशत हिस्सेदारी है जबकि प्रवर्तक समूह की कुल मिलाकर 33.02 प्रतिशत हिस्सेदारी है। मिस्त्री के पास कंपनी में 72,960 शेयर हैं। टाटा समूह की तीन कंपनियां -टाटा इंडस्ट्रीज, टीसीएस और टाटा टेलिसर्विसिज- पहले ही मिस्त्री को कंपनियों के निदेशक मंडल से हटाने के पक्ष में मत दे चुके हैं। साइरस मिस्त्री को 24 अक्तूबर को टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी टाटा संस के चेयरमैन पद से हटा दिया गया था। उसके बाद से उन्हें समूह कंपनियों के चेयरमैन और निदेशक पद से हटाने को लेकर जोर आजमाइश चल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App