ताज़ा खबर
 

मुस्लिम से हिंदू लड़की की शादी वाले ऐड को तनिष्क ने लिया वापस, टि्वटर पर #BoycottTanishq हुआ था ट्रेंड

तनिष्क ने अपने नए विज्ञापन में हिंदू लड़की और मुस्लिम युवक की शादी को दिखाया था। इस पर ट्विटर यूजर्स ने #BoycottTanishq के साथ कंपनी का विरोध किया था। कंपनी के ऐड को लेकर लोग लिख रहे थे कि आखिर किसी भी धर्म या जाति के बिना कोई विज्ञापन नहीं तैयार हो सकता।

tanishq brandटि्वटर पर ट्रेंड हुआ #BoycottTanishq

ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क ने ट्विटर पर #BoycottTanishq ट्रेंड होने के बाद अपने उस विज्ञापन को वापस ले लिया है, जिसकी सोशल मीडिया पर एक वर्ग की ओर से आलोचना की जा रही थी। ‘एकत्वम’ शीर्षक से जारी इस ऐड में मुस्लिम परिवार में एक हिंदू बहू को दिखाया गया था। इस पर ट्विटर पर एक बड़े वर्ग ने कंपनी को ट्रोल करते हुए कहा था कि आखिर हिंदू परिवार में मुस्लिम बहू क्यों नहीं दिखाते। य़ही नहीं यूजर्स ने यह भी आरोप लगाया था कि तनिष्क ने ऐड का नाम एकत्वम रखा है ताकि संस्कृत की आड़ में लव जिहाद को बढ़ावा दिया जा सके। सोमवार को दिन भर बॉयकॉट तनिष्क ट्रेंड होने के बाद कंपनी ने ऐड को वापस लेने का फैसला लिया था। हालांकि अब एक वर्ग कंपनी की ओर से ट्रोल्स के आगे सरेंडर करने का आरोप लगा रहा है और उसकी निंदा कर रहा है।

दरअसल तनिष्क ने अपने नए विज्ञापन में हिंदू लड़की और मुस्लिम युवक की शादी को दिखाया था। इस पर ट्विटर यूजर्स ने #BoycottTanishq के साथ कंपनी का विरोध किया था। कंपनी के ऐड को लेकर लोग लिख रहे थे कि आखिर किसी भी धर्म या जाति के बिना कोई विज्ञापन नहीं तैयार हो सकता। यही नहीं एक यूजर ने तो यह भी लिखा कि आखिर हम हर जगह हिंदू बहू ही क्यों देखते हैं। मुस्लिम बहू कहीं क्यों नहीं दिखती?

ट्विटर पर तनिष्क के अलावा ParleG भी ट्रेंड कर रहा था। दरअसल कंपनी ने ऐलान किया है कि वह ऐसे चैनलों को विज्ञापन नहीं देगा, जो भड़काऊ कॉंन्टेंट परोस रहे हैं। कथित टीआरपी स्कैम के बीच कंपनी की ओर से लिए गए इस फैसले की ट्विटर यूजर्स के एक बड़े वर्ग ने सराहना की है। वहीं एक तबके ने कहा कि यह खत्म होते ब्रांड का लिबरल्स की आड़ लेने जैसा है। बता दें कि इससे पहले बजाजा ऑटो के एमडी राजीव बजाज ने भी ऐलान किया था कि उनकी कंपनी की ओर से ऐसे चैनलों को विज्ञापन नहीं दिए जाएंगे, जो सनसनीखेज, भड़काऊ और एकतरफा समाचार देते हैं।

पारले प्रोडक्ट्स के सीनियर कैटेगरी हेड कृष्णाराव बुद्धा ने कहा कि कंपनी ऐसे समाचार चैनलों को विज्ञापन नहीं देगी, जो विषैला कॉन्टेंट पेश कर रहे हैं। यही नहीं Live Mint से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हम ऐसी संभावना पर विचार कर रहे हैं, जहां तमाम विज्ञापनदाता एक साथ आएं और ऐसे चैनलों को विज्ञापन न देने पर सहमति जताएं। ऐसा करके उन चैनलों को स्पष्ट संकेत दिया जा सकता है, जो इस तरह की सामग्री दे रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आधार कार्ड में घर बैठे अपडेट कर सकते हैं अपना पता, जानें- क्या है तरीका और कौन से दस्तावेज हैं जरूरी
2 बाबा रामदेव के भाई रामभरत की भी है पतंजलि आयुर्वेद समूह पर मजबूत पकड़, जानिए कैसे
3 फेस्टिव सीजन में खरीद सकते हैं महिंद्रा की नई बोलेरो, शानदार ऑफर दे रही है कंपनी, जानें- कीमत और फीचर्स
यह पढ़ा क्या?
X