ताज़ा खबर
 

Swiggy ने की 1,100 कर्मचारियों की छंटनी, लॉकडाउन 4.0 के पहले दिन लिया फैसला, जोमैटो भी घटा चुका है स्टाफ

ऑनलाइन फूड डिलिवरी कंपनी Swiggy ने 1,100 कर्मचारियों की छंटनी कर दी है। लॉकडाउन का चौथा चरण लागू होने के पहले ही दिन कंपनी ने यह कठिन फैसला लिया है। कंपनी ने अपनी करीब 14 फीसदी वर्कफोर्स को कम करने का कठिन फैसला लिया है।

swiggySwiggy ने की 1,100 कर्मचाकरियों की छंटनी

ऑनलाइन फूड डिलिवरी कंपनी Swiggy ने 1,100 कर्मचारियों की छंटनी कर दी है। लॉकडाउन का चौथा चरण लागू होने के पहले ही दिन कंपनी ने यह कठिन फैसला लिया है। कंपनी ने अपनी करीब 14 फीसदी वर्कफोर्स को कम करने का कठिन फैसला लिया है। कंपनी के सीईओ और को-फाउंडर श्रीहर्ष मजेठी ने कहा, ‘आज Swiggy के लिए सबसे दुखद दिन है, जब हमें दुर्भाग्यपूर्ण तौर पर वर्कफोर्स को कम करने का फैसला लेना पड़ा रहा है।’ सोमवार को ही कर्मचारियों को भेजे गए ईमेल में सीईओ ने यह बात लिखी है। यही नहीं उन्होंने कि Swiggy अपनी किचेन फैसिलिटीज को लगातार स्थायी या फिर अस्थायी तौर पर बंद करने में जुटा है।

श्रीहर्ष ने लिखा, ‘दुखद तौर पर हमें अपने 1,100 कर्मचारियों को खुद से अलग करना पड़ रहा है। कंपनी ने हर ग्रेड और हर फंक्शन में यह कटौती करने का फैसला लिया है। देश के कई शहरों समेत हे़ड ऑफिस में भी कर्मचारियों की संख्या में कटौती की है।’ इससे पहले जोमैटो ने 520 कर्मचारियों की छंटनी का फैसला लिया था। सीईओ श्रीहर्ष ने कहा कि अगले कुछ दिनों में एचआर टीम उन लोगों को पूरी जानकारी दे देगी, जो इस फैसले से प्रभावित हुए हैं।

कंपनी के सीईओ ने ईमेल के जरिए इस फैसले की जानकारी देते हुए लिखा कि इस निर्णय से प्रभावित हुए लोगों को पूरी वित्तीय और करियर से जुड़ी सहायता भी मुहैया कराई जाएगी। ऐसे कर्मचारी जिनकी छंटनी की जा रही है, उन्हें तीन महीने की सैलरी दी जाएगी। इसके अलावा जितने साल से वह कंपनी से जुड़े हैं, उतने महीने की सैलरी उन्हें दी जाएगी। नोटिस पीरियड के दौरान दी जाने वाली सैलरी से यह राशि अलग होगी।

Coronavirus/COVID-19 और Lockdown से जुड़ी अन्य खबरें जानने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें: Lockdown 4.0 Full Update:  14 दिन के लिए और बढ़ा देश में लॉकडाउन, अब 3 के बजाय 5 होंगे जोन्स; प्लेन-ट्रेन व मेट्रो रहेगी बंद। Lockdown 4.0 Guidelines में किन चीजों को मंजूरी और किन्हें नहीं, देखें डिटेल में। कोरोना, लॉकडाउन की मार: ‘घर पर पड़ी है पति की लाश, बस पहुंचा दो गांव’, दिल्ली में फंसी महिला का दर्द। मजदूरों का मुद्दाः मोदी सरकार पर बरसे RSS से जुड़े संगठन के नेता, बोले- श्रमिकों को मारोगे भी, फिर रोने भी न दोगे। MyGov.in COVID-19 Trackers: इन 13 तरीकों से पा सकते हैं Corona से जुड़ी आधिकारिक जानकारी। IRCTC: मरीजों, बुजुर्गों को लाने-ले-जाने को स्टेशन पर मिलती है बैट्री कार, जानें कैसे

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना-साल में 50 हजार रुपये तक चढ़ सकता है सोना, सिर्फ दो महीने में ही 25% बढ़ गए दाम, जानें- क्या है वजह
2 पीएम मोदी ने 21 लाख करोड़ के पैकेज की निगरानी के लिए बनाई टीम, अमित शाह समेत इन मंत्रियों को दी जिम्मेदारी
3 सुकन्या समृद्धि योजना, पीपीएफ और किसान विकास पत्र समेत इन 5 स्कीमों में अब भी है सबसे ज्यादा रिटर्न
यह पढ़ा क्या?
X