ताज़ा खबर
 

Suzuki ने माना, 5 साल तक गलत तरीके से जांचती रही माइलेज

कार बनाने वाली जापानी कंपनी सुजुकी का कहना है कि उसे अपनी गाड़ियों के तकनीकी परीक्षण के दौरान मानकों की अनदेखी का पता चला है। कंपनी के मुताबिक कारों के ईंधन और उत्सर्जन के परीक्षण के दौरान गड़बड़ियां सामने आई हैं। हालांकि सुजुकी ने ग्राहकों के साथ किसी तरह के धोखे से इनकार किया है।

सुजुकी के ऐसा खुलासा करते ही कंपनी के शेयरों में 9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि कारों के 16 मॉडल्स की टेस्टिंग के लिए जो तरीका अपनाया जा रहा था, वो नियमों के मुताबिक नहीं है। सुजुकी ने जोर दिया है कि नए टेस्ट्स के बावजूद डाटा में कोई छेड़छाड़ करने की जरूरत नहीं होगी। अपने बयान में सुजुकी ने कहा, “किसी भी तरह की गलती, जैसे फ्यूल इफिशिएंसी डाटा में मनमानी नहीं पाई गई है।”

पिछले महीने ही मित्सुबिशी ने कबूला था कि उसने अपनी कारों की माइलेज के डाटा में छेड़छाड़ की है। मित्सुबिशी ने एक बयान में कहा था कि इस स्कैंडल की जिम्मेदारी लेते हुए कंपनी के प्रेसिडेंट तेत्सुरो एकवा अपनी इस्तीफा देंगे। जापान के परिवहन मंत्रालय ने देश की सभी कार निर्माता कंपनियों को आदेश दिए थे कि वे वाहनों को टेस्ट करने के सरकारी मानकों के पालन पर रिपोर्ट सौंपे।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, सुजुकी के ऐसा खुलासा करते ही कंपनी के शेयरों में 9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। सुजुकी, जापान की चौथी सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है। एक बयान में कंपनी ने कहा कि टेस्टिंग से जुड़ी समस्या 2010 से शुरू हुई थी। इससे करीब 21 लाख गाड़ियां प्रभावित हुई हैं। हालांकि कंपनी के मुताबिक, विदेशों में बेची गई गाड़ियों में कोई खराबी नहीं है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Toyota की नई Innova Crysta लांच, कीमत 13 लाख से शुरू, दिल्ली वाले नहीं चला सकेंगे
2 बजाज ऑटो की बिक्री पिछले साल की तुलना में 2% बढ़ी
3 Datsun redi-Go: 2.50 रुपए की कीमत, 1 मई से स्नैपडील पर भी कर सकेंगे बुकिंग
ये पढ़ा क्या?
X