ताज़ा खबर
 

टाटा और अडानी ग्रुप को सुप्रीम कोर्ट से झटका, पांच राज्यों में नहीं बढ़ा पाएंगे बिजली के दाम

अडानी पावर और टाटा पावर लिमिटेड के स्टॉक्स में भारी बिकावली देखने को मिली है।

अडानी पावर और टाटा पावर लिमिटेड के स्टॉक्स में भारी बिकावली देखने को मिली है। इस वजह से अडानी पावर के स्टॉक में 17 फीसदी, टाटा पावर के स्टॉक में 4 फीसदी से ज़्यादा की गिरावट दर्ज की गई। इससे पहले मंगलवार (11 अप्रैल) को सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिब्यूनल के फैसले को रद्द करते हुए इन दोनों कंपनियों की बिजली की दरें बढ़ाने से इनकार कर दिया। सर्वोच्च न्यायालय ने सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी रेग्युलेटरी कमिशन और अपेलैट ट्रिब्यूनल को इलेक्ट्रिसिटी ऑर्डर को रद्द कर दिया जिसमें दरें बढ़ाने को मंजूरी दी गई थी। कंपनी की दलील थी कि इंडोनेशिया में क़ानूनी बदलाव से इम्पोर्टेड कोयले की क़ीमत में उछाल दर्ज किया गया जिससे कंपनी को घाटा हुआ है।

न्यायाधीश पिनकी चंद्र घोष और रोहिंटन एफ नरीमन की पीठ में इलेक्ट्रीसिटी ट्रिब्यूनल के 2016 के फैसले के खिलाफ अपील दाखिल की गई थी। ट्रिब्यूनल ने फैसले में कहा था कि कोयले की कीमत में अप्रत्याशित वृद्धि होना बिजली कंपनियों और वितरकों के बीच बिजली उत्पादन समझौते की एक अहम कड़ी है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से टाटा पावर को 15 रुपये प्रति शेयर तक का झटका लग सकता है, जबकि अदानी पावर को 23 रुपये प्रति शेयर का नुकसान संभव है। टाटा पावर ने वित्त वर्ष 2013-16 के लिए 3300 करोड़ रुपये के राहत की मांग की थी। वहीं अदानी पावर ने वित्त वर्ष 2013-16 के लिए 3000 करोड़ रुपये के राहत की मांग की थी।

बता दें कि इससे पहले मंगलवार को शेयर बाज़ार की शुरुआत के समय अदानी पावर 44.50 के स्तर पर खुला था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद शेयर बाज़ार सीधा 16 प्रतिशत तक नीचे लुढ़क गया और 37.80 रुपये तक पहुंच गया। दोपहर 12.46 पर यह शेयर 37.10 के स्तर पर ट्रेड कर रहा था।

दूसरी ओर टाटा पावर का शेयर 87.10 के स्तर पर खुला था। सुबह 11.20 पर यह शेयर 89.95 पर ट्रेड कर रहा था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद 11.25 पर यह शेयर करीब 7 प्रतिशत गिरकर 83.30 पर पहुंच गया। दोपहर 12.50 के करीब यह शेयर 3.67 प्रतिशत की गिरावट के साथ 83.90 के स्तर पर कारोबार करता दिखा।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App