ताज़ा खबर
 

माल्या द्वारा चार करोड़ डॉलर भेजने का मामला, बैंकों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

पीठ ने 11 जनवरी को माल्या को बैंकों की याचिका के जवाब में तीन सप्ताह के भीतर हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया था।

Author नई दिल्ली | March 3, 2017 7:33 PM
शराब कारोबारी विजय माल्या। (एपी फाइल फोटो)

उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार (3 मार्च) को कहा कि वह शराब के कारोबारी विजय माल्या द्वारा कथित रूप से अपने बच्चों के नाम चार करोड़ अमेरिकी डॉलर हस्तांतरित किये जाने के खिलाफ बैंकों के समूह की याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई की जायेगी। बैंकों के समूह का कहना है कि इस रकम को वापस लाने की आवश्यकता है। न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल और न्यायमूर्ति उदय यू ललित की पीठ ने भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले बैंकों के समूह की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता श्याम दीवान की दलीलों पर विचार किया। दीवान का कहना था कि माल्या को पिछले साल फरवरी में ब्रिटिश फर्म डियाजियो से कथित रूप से चार करोड़ अमेरिकी डॉलर मिले थे जो उसने कर्नाटक उच्च न्यायालय और कर्ज वसूली न्यायाधिकरण सहित विभिन्न न्यायिक आदेशों का उल्लंघन करते हुये अपने बच्चों के नाम हस्तांतरित कर दिये। न्यायालय ने इस याचिका पर नौ मार्च को सुनवाई करने का निश्चय किया है।

बैंकों ने अनुरोध किया है कि कर्ज वसूली की लंबित कार्यवाही का निबटारा होने तक चार करोड़ अमेरिकी डॉलर की यह रकम इस न्यायालय में या फिर कर्ज वसूली न्यायाधिकरण में तत्काल जमा करायी जाये। पीठ ने 11 जनवरी को माल्या को बैंकों की याचिका के जवाब में तीन सप्ताह के भीतर हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया था। दीवान ने कहा कि बौंकें ने माल्या के खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने के लिये भी अर्जी दायर की थी। उन्होंने कहा कि यह रिकॉर्ड में है कि माल्या और उनकी फर्म पर बैंकों का 6300 करोड़ रुपए से अधिक बकाया है और इसलिए यह धनराशि यहां जमा कराई जानी चाहिए। पिछले साल अक्तूबर में न्यायालय ने विदेशों में अपनी संपत्ति का पूरा खुलासा नहीं करने के कारण माल्या को आड़े हाथ लिया था और उससे एक महीने के भीतर ऐसा करने के लिये कहा था। पीठ ने 4 करोड़ अमेरिकी डॉलर की राशि का विवरण नहीं बताने पर भी माल्या को आड़े हाथ लिया था जो उन्हें पिछले साल फरवरी में ब्रिटिश फर्म डियाजियो से कथित रूप से मिली थी।

विजय माल्या ने कहा- “मैं UPA और NDA के बीच फुटबॉल बनकर रह गया हूं”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App