ताज़ा खबर
 

सुकन्या समृद्धि योजना, PPF स्कीम, किसान विकास पत्र समेत अब भी फायदेमंद हैं ये बचत योजनाएं, जानें- किस पर मिल रहा कितना ब्याज

अब भी ये स्कीमें निवेश के लिए सुरक्षित और बेहतर रिटर्न का विकल्प बनी हुई हैं। पीपीएफ योजनाओं पर 7.1 पर्सेंट ब्याज मिल रहा है, जो पहले 7.9 पर्सेंट रहा है।

छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कटौती के चलते निवेशकों को मंदी के बीच बड़ा झटका लगा है। अप्रैल-जून 2020 तिमाही में ब्याज में कटौती के चलते निवेशकों के लिए यह करारा झटका है, लेकिन अब भी ये स्कीमें निवेश के लिए सुरक्षित और बेहतर रिटर्न का विकल्प बनी हुई हैं। पीपीएफ योजनाओं पर 7.1 पर्सेंट ब्याज मिल रहा है, जो पहले 7.9 पर्सेंट रहा है। इसके अलावा बच्चियों के नाम पर चलने वाली सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज की दर 8.4 पर्सेंट से घटकर 7.6 फीसदी हो गई है। हालांकि अब भी ये योजनाओं निवेशकों के लिए आकर्षण बनी हुई हैं। आइए जानते हैं, किस स्कीम में निवेश पर कितना मिल रहा है ब्याज…

PPF स्कीम: निवेश और टैक्स सेविंग्स के लिए बेहद लोकप्रिय योजना पब्लिक प्रोविडेंट फंड के ब्याज में भी सरकार ने बड़ी कटौती की है। इस स्कीम के तहत निवेश पर अप्रैल-जून तिमाही में 7.1 पर्सेंट ब्याज ही मिलेगा, जो अब तक 7.9 फीसदी था।

किसान विकास पत्र: डाकघर से चलने वाली किसानों की इस छोटी बचत योजना की ब्याज दर सरकार ने हाल में घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया है। पहले इसकी दर 7.6 फीसदी थी।

सुकन्या समृद्धि योजना: 10 साल से कम उम्र की बेटी के नाम पर शुरू की जाने वाली यह स्कीम हाल के दिनों में काफी चर्चित रही है। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत शुरू हुई इस स्कीम के ब्याज में भी बड़ी कटौती हुई है। अब इस पर 7.6 फीसदी ब्याज ही मिलेगा, जो अब तक 8.4 पर्सेंट था।

1, 2 एवं तीन साल के FD: तीन साल तक के फिक्स्ड डिपॉजिट पर अब महज 5.5 पर्सेंट का ब्याज ही मिलेगा। पहले यह दर 6.9 पर्सेंट ही थी।

5 साल के FD: फिक्स्ड डिपॉजिट का ब्याज अब 6.7 पर्सेंट ही रह गया है। इससे पहले 7.7 फीसदी ब्याज मिलती थी।

5 साल की RD: यदि आपने 5 साल के लिए बैंक में RD करा रखी है तो इस पर 5.8 पर्सेंट ही ब्याज मिलेगा। इससे पहले यह 7.2 पर्सेंट था।

सीनिय़र सिटिंजस सेविंग्स स्कीम: वरिष्ठ नागरिकों के लिए इस बेहद आकर्षक निवेश योजना के ब्याज में भी कमी आ गई है। पहले इसमें 8.6 पर्सेंट ब्याज मिलता था, लेकिन अब 7.4 ही रह गया है।

मासिक आय खाता: अब तक इन खातों पर 7.6 फीसदी का ब्याज मिलता था, लेकिन अब इसकी दर भी एक फीसदी कम हो कर 6.6 पर्सेंट रह गई है।

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट: राष्ट्रीय बचत योजना के निवेश में भी 1.1 पर्संट की कमी कर दी गई है। पहले इस पर 7.9 पर्सेंट का ब्याज मिलता था, लेकिन अब 6.8 पर्सेंट ही रह गया है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल ।  कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वर्क फ्रॉम होम की चर्चा पर बोले माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, मैं तो ‘वर्क फ्रॉम बेड’ करता था, अब छोड़ दिया
2 जन धन योजना में 10,000 से भी ज्यादा हो सकती है ओवरड्राफ्ट की लिमिट, अन्य बचत खातों पर भी मिलेगी सुविधा