ताज़ा खबर
 

27 साल की इस भारतीय लड़की ने खड़ी कर दी 1 अरब डॉलर की कंपनी, पढ़ें कामयाबी की कहानी

अंकिति 23 साल और ध्रुव कपूर 24 साल की उम्र में कीवी गेमिंग स्टूडियो में काम करते थे। दोनों को जल्द ही एहसास हो गया कि दोनों को साथ मिलकर कुछ करना चाहिए। चार महीने बाद दोनों ने नौकरी छोड़ दी

अंकिति बोस (फोटोसोर्स- फेसबुक/अंकिति बोस )

कम उम्र में बड़ा मुकाम हर किसी को हासिल नहीं होता है। मेहनत और लगन के साथ-साथ सही फैसले और संघर्ष के दम पर बड़े मुकाम हासिल किए जा सकते हैं।ऐसी ही कहनी है 27 साल की भारतीय लड़की अंकिति बोस जिन्होंने अपनी कामयाबी के दम पर नई इबारत लिखी है। साउथ ईस्ट एशिया के फैशन ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म जीलिंगो तेजी से बड़ी कंपनी के तौर पर उभर रही है। जिलिंगो युनिकॉर्न स्टेटस पाने के बेहद करीब है। अंकिति बोस पहली ऐसी महिला सीईओ है जिनकी कंपनी को युनिकार्न का स्टेटस मिला है।

यूनिकॉर्न एक टर्म है जिसे उन स्टार्टअप्स को दिया जाता है जिनकी वैल्यू एक अरब डॉलर के करीब पहुंच जाती है।
अंकिति के स्टार्ट अप की मौजूदा वैल्यू 970 मिलियन डॉलर है। इसकी शुरूआत 2013 में वेंचर कैपिटल एलिन ली ने की थी। कंपनी का हेड ऑफिस सिंगापुर में है। इसके अलावा इसकी एक टीम बेंगलुरू में बैठती है। भारत में उनका काम उनके साथी ध्रुव कपूर देखते हैं।

अंकिति 23 साल और ध्रुव कपूर 24 साल की उम्र में कीवी गेमिंग स्टूडियो में काम करते थे। दोनों को जल्द ही एहसास हो गया कि दोनों को साथ मिलकर कुछ करना चाहिए। चार महीने बाद दोनों ने नौकरी छोड़ दी और दोनों ने अपनी बचत के हिस्से का 30 हजार डॉलर खर्च कर जिलिंगो की शुरुआत की। 27 साल की अंकिति बोस एशिया में इतनी बड़ी कंपनी चलाने वाली युवा सीईओ में शुमार हो गई हैं।

कहां से आया आईडिया
मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज से अंकिति ने 2012 में गणित और अर्थशास्त्र से ग्रेजुएशन किया है। अंकिति के मुताबिक वह एक बार बैंकॉक गई हुई थी और वहां उन्होंने चटूचक मार्केट देखी जहां समाने बेचने वालों ने लगभग 15000 स्टॉल लगाए हुए थे। इसके बाद अंकिति को लगा कि उन्हें इन लोगों को और ज्यादा अवसर मिलने चाहिए। इसके बाद उन्होंने यह आइडिया सोचा। यह कंपनी पहले थाइलैंड और कंबोडिया में स्थापित हुई आज लगभग 8 कंपनियों में व्यापार कर रही है और कंपनी में 400 लोग कार्यरत हैं।अंकिति ने कहा कि उन्होंने इसके लिए काफी मेहनत की वह दिन के 18 घंटे काम करती थी। वो कहती है कि उन्हें इस काम के दौरान मजा आता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App