scorecardresearch

Stock Market Update: चार महीने बाद सेंसेक्‍स 60 हजार पार, निफ्टी 17,900 पर, अहम बातें

Share Market: सेंसेक्‍स में 300 अंक से अधिक की उछाल दर्ज की गई है। वहीं निफ्टी 50 अंक बढ़कर 17,900 के स्तर से ऊपर कारोबार कर रहा था।

Stock Market Update: चार महीने बाद सेंसेक्‍स 60 हजार पार, निफ्टी 17,900 पर, अहम बातें
निफ्टी 18000 के करीब पहुंच चुका है। (फोटो-रॉयटर्स)

इंटरनेशनल बाजार में उतार-चढ़ाव और कच्‍चे तेल में गिरावट के बीच भारतीय शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली है। बुधवार को शुरुआती कारोबार में, एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 5 अप्रैल के बाद पहली बार 60,000 के स्तर को फिर से पार कर चुका है। इसमें 300 अंक से अधिक की उछाल दर्ज की गई है। वहीं निफ्टी 50 अंक बढ़कर 17,900 के स्तर से ऊपर कारोबार कर रहा था।

इस बढ़ोतरी की वजह तेल और गैस, ऑटो और एफएमसीजी शेयरों में मजबूती बताई जा रही है। हालांकि कुछ चुनिंदा आईटी कंपनियों के शेयरों की कमजोरी से मार्केट पर इसका थोड़ा असर रहा है।

टॉप गेनर और लूजर

NTPC, Grasim Industries, BPCL, Hero MotoCorp और Eicher Motors आदि ने निफ्टी पर टॉप गेनर रहे हैं, जबकि HDFC, HDFC Bank, Infosys, TCS और HCL Technologies लूजर रहे हैं।

निफ्टी मिडकैप 100 और निफ्टी स्मॉलकैप 100 में 0.5 फीसदी तक की तेजी के साथ व्यापक बाजारों ने भी इसी तरह के लचीलेपन को दर्शाया है। सेक्टर-वार, निफ्टी बैंक, निफ्टी बैंक, निफ्टी एफएमसीजी विजेता रहे। वहीं निफ्टी आईटी पैक के बीच एकमात्र सेक्टोरल लूजर था।

इसके अलावा, फर्म द्वारा पीएनजी और सीएनजी की कीमतों में कटौती के बाद अलग-अलग शेयरों में 3 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई है। वहीं एनटीपीसी के शेयरों में 2 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई क्योंकि बिजली की दिग्गज कंपनी ने वित्तीय संस्थानों से 5,000 करोड़ रुपए के सावधि कर्ज जुटाने के लिए टेंडर जारी की।

निफ्टी ऑल टाइम हाई से सिर्फ 4.3 प्रतिशत दूर

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा कि एक्‍सपर्ट मानते हैं कि यह एक और बुल मार्केट की शुरुआत है, क्‍योंकि निफ्टी ऑल टाइम हाई पर पहुंचने से सिर्फ 4.3 प्रतिशत दूर है। कहा कि भारत में मुद्रास्फीति में लगातार गिरावट, अर्थव्यवस्था में मजबूत विकास गति और एफआईआई के लगातार खरीदारों में बदलने से रैली में तेजी आ रही है।

निवेश में बने रहना समझदारी

वहीं अमेरिकी बाजार में उतार-चढ़ाव और लगातार नरमी की वजह से भारतीय बाजार में तेजी देखी जा रही है। एक्‍सपर्ट का मानना है कि वैल्यूएशन ज्यादा होने के बावजूद निवेश में बने रहना और गिरावट पर खरीदारी करना समझदारी है।

इंटरनेशनल मार्केट

अमेरिकी बाजार मंगलवार को मिले-जुले रहे क्योंकि डॉव जोन्स 0.7 फीसदी चढ़े, जबकि एसएंडपी 500 0.1 फीसदी और नैस्डैक कंपोजिट 0.1 फीसदी फिसले। वहीं एशियाई शेयरों ने बुधवार को वॉल स्ट्रीट के ठोस प्रदर्शन को ट्रैक किया क्योंकि अमेरिकी खुदरा दिग्गजों के लिए रात भर की मजबूत कमाई ने फेडरल रिजर्व के लिए दरों में बढ़ोतरी के साथ मुद्रास्फीति से निपटने के लिए और गुंजाइश की ओर इशारा किया।

बुधवार को टोक्यो के शेयर उच्च स्तर पर खुले। यहां शुरुआती कारोबार में बेंचमार्क निक्केई 225 इंडेक्स 0.40 फीसदी या 114.52 अंक बढ़कर 28,983.43 पर था, जबकि व्यापक टॉपिक्स इंडेक्स 0.46 फीसदी या 9.10 अंक बढ़कर 1,991.06 पर पहुंच गया।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट