ताज़ा खबर
 

भारतीय स्टेट बैंक ने एक ही दिन में लघु उद्योगों को बांट दिए 3,000 करोड़ रुपये के कर्ज, 22000 आवेदनों को दी मंजूरी

State Bank of India loans: भारतीय स्टेट बैंक ने महज एक दिन में ही 3,000 करोड़ रुपये के लोन बांटे हैं। बैंक ने सोमवार को 22,000 लोन आवेदनों को मंजूरी दी है, जिनके तहत यह रकम जारी की गई है।

notesभारतीय स्टेट बैंक ने एक ही दिन में बांटे 3,000 करोड़ रुपये के लोन

केंद्र सरकार की ओर से सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के लिए जारी किए गए 3 लाख करोड़ रुपये के पैकेज के तहत कर्ज मिलने शुरू हो गए हैं। सरकारी क्षेत्र के दिग्गज भारतीय स्टेट बैंक ने महज एक दिन में ही 3,000 करोड़ रुपये के लोन बांटे हैं। बैंक ने सोमवार को 22,000 लोन आवेदनों को मंजूरी दी है, जिनके तहत यह रकम जारी की गई है। एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि सरकार की ओर से लोन गारंटी के चलते बैंकों में 30,000 करोड़ रुपये आए हैं। बैंकों की ओर से इस रकम को लोन जारी करते वक्त अलग नहीं रखा जा सकता।

दरअसल केंद्र सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए लागू हुए लॉकडाउन के चलते सुस्त हुई अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज जारी किया है। इस पैकेज का बड़ा हिस्सा गारंटीड क्रेडिट लाइन के तौर पर ही है ताकि बैंकों की ओर से ज्यादा से ज्यादा कर्ज छोटे उद्योगों को बांटे जा सकें। इसी के तहत भारतीय स्टेट बैंक ने एक अलग यूनिट का ही गठन किया है, जिसे माइक्रो यूनिट्स के लोन के आवेदनों पर विचार करने का काम सौंपा गया है।

देश भर में एसबीआई ने ग्रामीण और अर्धग्रामीण इलाकों में 8,000 शाखाओं को चयनित किया है, जिन्हें छोटे उद्योगों और किसानों को लोन देने का काम दिया गया है। यही नहीं एसबीआई के चेयरमैन ने बैंकों के कर्ज के फंसने के संकट को लेकर कहा कि स्थिति उतनी भी खराब नहीं है, जितनी बताई जा रही है। उन्होंने कहा कि वे नहीं मानते हैं कि आने वाले दिनों में बैड लोन में इजाफा होगा। कोटक महिंद्रा बैंक के चेयरमैन उदय कोटक के एक बयान को लेकर यह बात कही। कोटक ने कहा था कि आने वाले दिनों में एनपीए का आंकड़ा बढ़कर 5 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में चीन को मात देना फिलहाल है दूरी की कौड़ी? जानें- कहां कमजोर है भारत
2 सरकारी बैंकों के निजीकरण की तैयारी में मोदी सरकार? पंजाब ऐंड सिंध बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र समेत इन बैंकों से हो सकती है शुरुआत
3 इनकम टैक्स रिफंड पाना है तो करना होगा यह काम, वरना करते रह जाएंगे इंतजार, जानें- क्या है पूरी प्रक्रिया