standard and poor india rating on gst And Demonetisation - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अल्पकाल में नुकसानदायक हो सकता नोटबंदी, GST, पर दीर्घकाल में होगा लाभ: स्टैंडर्ड एंड पूअर्स

स्टैंडर्ड एंड पूअर्स ग्लोबल रेटिंग्स ने आज कहा कि नोटबंदी तथा सितंबर 2017 से जीएसटी के लागू होने से अल्पकाल में अर्थव्यवस्था के असंगठित, ग्रामीण और नकद आधारित खंडों पर ‘उच्च हानिकारक प्रभाव’ पड़ सकता है।

Author नई दिल्ली | December 14, 2016 12:59 PM
स्टैंडर्ड एंड पूअर्स ग्लोबल रेटिंग्स ने आज कहा कि नोटबंदी तथा सितंबर 2017 से जीएसटी के लागू होने से अल्पकाल में अर्थव्यवस्था के असंगठित, ग्रामीण और नकद आधारित खंडों पर ‘उच्च हानिकारक प्रभाव’ पड़ सकता है।

स्टैंडर्ड एंड पूअर्स ग्लोबल रेटिंग्स ने आज कहा कि नोटबंदी तथा सितंबर 2017 से जीएसटी के लागू होने से अल्पकाल में अर्थव्यवस्था के असंगठित, ग्रामीण और नकद आधारित खंडों पर ‘उच्च हानिकारक प्रभाव’ पड़ सकता है। हालांकि इन सुधारों से अल्पकालीन समस्याओं के बाद दीर्घकाल में लाभ हो सकता है। एजेंसी ने आगे कहा कि कंपनियों तथा बैंकों पर अल्पकाल में नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है क्योंकि नोटबंदी से नकदी संकट के कारण जीडीपी वृद्धि कम होगी।

एस एंड पी ग्लोबल रेटिंग्स के क्रेडिट विश्लेषक अभिषेक डांगरा ने ‘इंडियाज डिमोनेटिआईजेशन एंड द जीएसटी: शार्ट टर्म पेन फान लांग टर्म गेन’ शीर्षक से लिखे अपने एक लेख में कहा, ‘भारत सरकार के सुधारों का दीर्घकालीन संरचनात्मक लाभ होगा लेकिन इसमें अल्पकालीन क्रियान्वयन और समायोजन जोखिम है।’ यह लेख आज प्रकाशित हुआ है। रेटिंग एजेंसी ने हाल ही में 2016-17 के लिये आर्थिक वृद्धि का अनुमान एक प्रतिशत अंक कम कर 6.9 प्रतिशत कर दिया। इसका कारण नोटबंदी से उत्पन्न होने वाली बाधा है।

लेख में कहा गया है कि सरकार का उच्च राशि की मुद्रा पर प्रतिबंध के निर्णय से नकदी की काफी समस्या हुई है। एस एंड पी ने कहा, ‘नोटबंदी और जीएसटी दोनों से अर्थव्यवस्था के असंगठित, ग्रामीण और नकद आधारित खंडों पर ‘उच्च हानिकारक प्रभाव’ पड़ सकता है। जीएसटी के सितंबर 2017 से लागू होने की संभावना है।’ लेख के अनुसार कहा इन सुधारों से अल्पकालीन समस्याओं के बाद दीर्घकाल में लाभ हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App