ताज़ा खबर
 

स्नैपडील-फ्लिपकार्ट का विलय नहीं होगा, बाजार में मजबूती के लिए बनाई नई रणनीति

Snapdeal-Flipkart: घरेलू ई-कॉमर्स की प्रमुख कंपनी स्नैपडील को अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी दूसरी कंपनियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है।
स्नैपडील के सबसे बड़े निवेशक जापान के सॉफ्टबैंक ने कहा कि वह स्वतंत्र रास्ते पर चलने के कंपनी के फैसले का आदर करता है।

ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट स्नैपडील ने सोमवार (31 जुलाई) को देश की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी के ऑफर को ठुकरा दिया है। स्नैपडील कथित रूप से 900 से 950 बिलियन डॉलर (57737 से 60928 अरब रुपये) में फ्लिपकार्ट को अपना बिजनेस बेचने के लिए बातचीत कर रहा था। स्नैपडील के प्रवक्ता ने इसे बेचने की सभी चर्चाओं पर विराम लगा दिया है। उन्होंने कहा कि स्नैपडील पिछले कई महीनों से रणनीतिक विकल्प तलाश रहा है। कंपनी अब खुद की माली हालत को सुधारते हुए आगे बिजनेस करेगी। स्नैपडील ने कहा कि वह कुछ गैर-महत्वपूर्ण संपत्तियों को बेचकर अपनी वित्तीय हालत को मजबूत करेगी। पिछले सप्ताह देश के सातवें बड़े बैंक ऐक्सिस बैंक ने स्नैपडील से ही मोबाइल वॉलेट प्रोवाइडर फ्रीचार्ज को 385 करोड़ रुपये में खरीदने का ऐलान किया। घरेलू ई-कॉमर्स की प्रमुख कंपनी स्नैपडील को अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी दूसरी कंपनियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है।

स्नैपडील के सबसे बड़े निवेशक जापान के सॉफ्टबैंक ने कहा कि वह स्वतंत्र रास्ते पर चलने के कंपनी के फैसले का आदर करता है। सॉफ्टबैंक ने कहा कि आंट्रप्रन्योर्स और उनके विजन को समर्थन देना उसके चेयरमेन और सीईओ मासोयोसी सन्स एवं कंपनी की इन्वेस्मेंट फिलॉसफी के मूल में हैं। अगर डील हो गई होती तो यह भारतीय ई-कॉमर्स सेक्टर का सबसे बड़ा अधिग्रहण होता।

फरवरी 2016 में स्नैपडील का वैल्युएशन 6.6 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर था जो अब फ्लिपकार्ट के साथ बातचीत में घटकर 1 अरब डॉलर पर आ पहुंचा। दरअसल, तेजी से बढ़ते देश के ई-कॉमर्स मार्केट पर दबदबे के लिए सबसे बड़ी देसी कंपनी फ्लिपकार्ट का दिग्गज अमेरिकी कंपनी अमेजन से कड़ा मुकाबला हो रहा है।

बता दें कि मुश्किलों में घिरे ऑनलाइन मार्केटप्लेस स्नैपडील के मार्केट लीडर फ्लिपकार्ट के साथ प्रस्तावित विलय का मामला सुलझाने के लिए सोमवार और मंगलवार को बेंगलुरु में होने वाली एक अहम बैठक रद्द कर दी गई। लॉ फर्म जे सागर असोसिएट्स और बैंकर क्रेडिट सुइस इस बातचीत में स्नैपडील का प्रतिनिधित्व कर रहे थे। उन्हें बेंगलुरु में फ्लिपकार्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले गोल्डमैन सैक्स और खेतान ऐंड कंपनी के साथ मीटिंग करनी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App