ताज़ा खबर
 

स्‍नैपचैट ने अमेरिकी बाजार में उतारा आईपीओ, पहले ही दिन 44 प्रतिशत बढ़े शेयरों के दाम

स्‍नैपचैट का मार्केट कैंप करीब 34 बिलियन डॉलर होने की बात कही जा रही है जो कि ट्विटर के 11.2 बिलियन डॉलर से ज्‍यादा है

स्‍नैपचैट

सोशल मीडिया नेटवर्किंग एप स्‍नैपचैट ने गुरुवार को न्‍यू यॉर्क एक्‍सचेंज में आईपीओ जारी किया। 17 डॉलर प्रति शेयर के स्‍टॉक प्राइस पर खुला आईपीओ कारोबार खत्‍म होने पर 44 प्रतिशत बढ़ोत्‍तरी के साथ 24.51 डॉलर प्रति शेयर तक पहुंच गया। कंपनी का मार्केट कैंप करीब 34 बिलियन डॉलर होने की बात कही जा रही है जो कि ट्विटर के 11.2 बिलियन डॉलर के मार्केट कैप से ज्‍यादा है, मगर फेसबुक के 350 बिलियन डॉलर से कम है। स्‍नैपचैट का आईपीओ काफी हद तक ट्विटर के आईपीओ लॉन्‍च जैसा है, जो कि 26 डॉलर प्रति शेयर के दाम पर लॉन्‍च किया था और 45 डॉलर के मूल्‍य पर बंद हुआ था। हालांकि समय के साथ ट्विटर के शेयरों के दाम सामान्‍य हो गए और अब एक शेयर की कीमत करीब 15.8 डॉलर है। दूसरी तरफ, फेसबुक ने अपना आईपीओ 38 डॉलर प्रति शेयर के साथ लॉन्‍च किया था, वर्तमान में उसका एक शेयर 136.7 डॉलर है।

पिछले महीने ही स्‍नैपचैट की ओर से ऐलान किया था कि वह अपने आईपीओ से करीब 4 बिलियन डॉलर की रकम जुटाना चाहती है, और मार्केट में वैल्‍यु को 25 बिलियन डॉलर तक पहुंचाना चाहती है। कंपनी ने कहा था कि वह इस फंड का इस्‍तेमाल अधिग्रहणों और अन्‍य व्‍यापारिक उद्देश्‍यों के लिए करेगी। स्‍नैपचैट ने अल्‍फाबेट पर 2 बिलियन डॉलर खर्च करने की योजना बनाई है जिससे वह अगले 5 सालों तक गूगल के क्‍लाउड कंप्‍यूटिंग सर्विसेज का इस्‍तेमाल कर सके।

वित्‍तीय वर्ष 2016-17 कर चौथी तिमाही तक, स्‍नैपचैट ने वैश्विक स्‍तर पर अपने 158 मिलियन डेली एक्टिव यूजर्स (DAU) होने का दावा किया है, जो कि पिछले साल इसी तिमाही में 107 मिलियन से मुकाबले 48 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। इनमें से 68 मिलियन DAU उत्‍तरी अमेरिका से, 52 मिलियन यूरोप से और 39 मिलियन बाकी दुनिया से हासिल हुए थे। कंपनी एक इमेज शेयरिंग एप की सुविधा देती है जिसमें कुछ समय के बाद अपने आप फोटोज डिलीट हो जाती हैं, इसके अलावा एप में स्‍टोरीज, चैट, जियोफिल्‍टर, लेंसेज, बिटमोजी आदि जैसे फीचर्स भी हैं।

गूगल प्ले स्टोर पर टॉप पर रही BHIM एप के बारे में जानें ये ज़रूरी बातें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App